आज से ठीक एक साल पहले मैंने कैंब्रिज में अपनी आरामदयक ज़िंदगी छोड़ दी थी. मुझे अपनी एक रिसर्च के काम के लिए साल भर अलग-अलग जगहों पर जाना था. मेरी पहली मंजिल पेरिस थी. फिर तेल अवीव और आख़िर में लॉस एंजेलेस.

मैं अपने पीछे एक टूटा हुआ रिश्ता छोड़ कर जा रही थी. जिस वजह से मुझे ख़ुद को दोबारा अपनाने में एक लंबा वक़्त लग गया. हालांकि, मैं हर रूप से इस दुःख को अपनी सच्चाई बना बैठी थी कि ये दर्द और दुःख मेरे जीवन से कभी नहीं जाएगा. मगर 12 महीने के लम्बे अंतराल के बाद, दुनिया घूमने के बाद. मैं आभार व्यक्त करती हूं उन सभी अनुभवों का जिसने न सिर्फ़ मुझे घूमने का मौका मिला, बल्कि भावनात्मक रूप से भी मेरी मज़बूत होने में मदद की.

इस बीच मैंने जीवन के कुछ सबक सीखे. वक़्त के साथ इनमें से कुछ के मायने बेशक़ बदल जाएंगे, मगर मुझे लगता है कि उन्हें शेयर करना भी बेहद ज़रूरी है.

life
Source: goalcast

1. अपने प्रति नम्र रहें-

ख़ुद के प्रति संवेदनशील रहना ज़रूरी है. बल्कि जब तक आप ख़ुद के प्रति संवेदनशील नहीं होंगे तो आप अपने दुःख से उभर नहीं पाएंगें.

"केवल वो लोग जो दृढ़ता से प्यार करना जानते हैं, उन्हें ही बहुत दुख भी झेलना पड़ता है लेकिन प्यार करने की यही आवश्यकता उनके दुःख को कम करने का काम करती है और उन्हें ठीक करती है."
दुःख से बाहर निकलने का एक ही तरीका है उससे गुजर कर.

be kind
Source: lionsroar

2. उन लोगों के साथ रहें जो आपको बढ़ावा देते हैं-

जीवन में बेहद ज़रूरी है कि हम उन लोगों के साथ रहें जो ज़िंदगी को सकारात्मक तरीक़े से देखते हैं. कभी-कभी मैं ऐसे लोगों से दोस्ती कर बैठती हूं जो मेरे ऊपर नकारात्मक प्रभाव डालते हैं. मैं उस समय तो सोच नहीं पाती हूं और ग़लत जजमेंट के चलते मुझे बाद में ऐसे लोगों से दोस्ती करने का अंजाम भुगतना पड़ता है. ऐसे में बेहद ज़रूरी है कि हम ऐसे लोगों के साथ रहें, जो हमें अच्छा इंसान बनाए, जीवन के प्रति नया नज़रिया दे.

reality
Source: ideapod

3. हक़ीक़त से जुड़े रहें-

बदकिस्मती कह ले या जीवन के दुःख सब देखने का नज़रिया होता है. जो हमारे पास है उस में ही ख़ुश होने का मतलब ये नहीं है कि हम ज़्यादा पाने की कोशिश करना या सपने देखना बंद कर दें, बल्कि इस प्रोसेस में जो अन्य बे फ़िज़ूल चीज़ों का हम स्ट्रेस ले लेते हैं उससे दूर रहें. 'जाने देने' का मतलब ये नहीं कि हमें जो चाहिए उसके लिए कोशिश करना बंद कर दें, बल्कि सच्चाई को अपनाते हुए जो चीज़ पानी है उसके लिए और मेहनत करना और एक इंसान ये दोनों ही काम कर सकता है.

live freely
Source: tinybuddha

4. आज में जियें-

आपने सुना होगा लोग अक्सर कहते हैं कि 'आज में जियो'. मगर ये एक ऐसी चीज़ है जिसे आपको हमेशा प्रैक्टिस करते रहना होगा. ये एक तरह की ज़िम्मेदारी है जिसे आपको हमेशा और बार-बार निभानी पड़ेगी.

time
Source: sciencenews

5. सब कुछ अस्थायी है-

बदलाव जीवन की एक मात्र चीज़ है जो स्थायी है. करोड़ो बार आपने भी सुना होगा और यही सच है. बदलाव सिर्फ़ व्यक्तिगत ही नहीं, जीवन के हर रूप में आपको देखने को मिलेगा. और जितनी जल्दी आप इसे स्वीकार कर लेंगें उतना ही अच्छा और सहजता से आपका जीवन बीतेगा.

life
Source: ianbanyard

6. आप अपने आप में परफ़ेक्ट हैं-

हम हमेशा हर चीज़ में परफ़ेक्ट होने की सोचते हैं या परफ़ेक्ट की तलाश करते रहते हैं. इस खोजबीन में हम भूल ही जाते हैं कि ये 'परफ़ेक्ट' चीज़ जिसके पीछे हम हमेशा भागते रहते हैं या तलाशते हैं वो हमारे ही अंदर है. हम हर रूप, उम्र और समय में परफ़ेक्ट है बस देखने का नज़रिया होना चाहिए.

इन बातों का अगर हम ध्यान रखेंगे, तो जीवन बेशक़ आसान बन जाएगा.