अब तक आपने ऐसे बहुत से लोगों के बारे में पढ़ा होगा, जो अपना सबकुछ छोड़ देते हैं - आराम, शानदार फ्लैट, एक अच्छी-ख़ासी सैलरी वाली नौकरी ताकि वो दुनिया घूम सकें. हमें लगता है कि वो भाग्यशाली हैं क्योंकि उनके पास सही परिस्थितियां थीं या ऐसा करने के लिए उनके पास पर्याप्त पैसा था.

नई-नई जगहों पर छुट्टियां मानना, वहां रोमांच और नए-नए अनुभव करना... ये शायद हर व्यक्ति का सपना होता है. लेकिन कुछ लोग अलग भी होते हैं, जो अपने ऐशो-आराम, नौकरी और भारी-भरकम सैलरी की छोड़ कर कुछ अलग करने की चाह रखते हैं.

ऐसे ही हैं स्विट्ज़रलैंड के 26 वर्षीय Dean Schneider, इन्होंने साबित किया है कि आपको अपने सपने को जीने के लिए सही परिस्थितियों या बहुत अधिक पैसे की आवश्यकता नहीं है. केवल एक चीज़ जो आपको चाहिए वो है साहस. अपने सपने को साकार करने के लिए हर मुसीबत से टकरा जाने का जज़्बा.

एक साल पहले तक वो स्विट्ज़रलैंड में फ़ाइनेंशियल प्लानर के रूप में नौकरी कर रहे थे. फिर उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी, उनके पास उस वक़्त जो भी था, सब बेचकर साउथ अफ्रीका चले आए और कैद में पैदा हुए शेरों की देखभाल के लिए ‘Hakuna Mipaka’ क्लब की स्थापना की. ये क्लब तक़रीबन 300 हेक्टेयर में फैला हुआ हैं.

अन्य जंगली जानवरों जैसे ज़ेब्रा, कुडू, इम्पलास, लकड़बग्घा यहां तक कि लंगूरों के लिए भी एक अलग क्षेत्र है जहां सभी आज़ादी से रहते हैं.

क्लब का नाम - ‘Hakuna Mipaka’- स्वाहिली भाषा (Swahili Language) का एक शब्द है जिसका अर्थ होता है 'असीमित'.

Dean Schneider ने अपने जीवन को वन्यजीवों की रक्षा करने और लोगों के दिलों में जानवरों के प्रति प्यार जगाने के लिए समर्पित किया है.

उनका कहना है कि, 'हमें वन्यजीवों के स्वभाव और उनके व्यवहार का सम्मान करना चाहिए, हम केवल उसी चीज़ की रक्षा करते हैं जिसे हम प्यार करते हैं.'

बचपन से ही उनकी जानवरों की दुनिया में बहुत दिलचस्पी थी, इसलिए वन्यजीवों के ऊपर बनी डॉक्युमेंट्रीज़ और विभिन्न जानवर संरक्षण संगठन हमेशा उनके जीवन का एक बड़ा हिस्सा रहे हैं.

उन्होंने जंगली जानवरों को समझना सीखा और हमेशा उनके साथ एक विशेष संबंध बनाने की कोशिश की.

वो अपने इंस्टाग्राम पर वन्यजीवों की अद्भुत सुंदरता दिखाकर लोगों को शिक्षित करते हैं.

हम उन्हें सोशल मीडिया स्टार भी कह सकते हैं क्योंकि इंस्टाग्राम पर उनके 567k फ़ॉलोवर्स हैं जो दक्षिण अफ्रीका में उनके सराहनीय कामों को पसंद करते हैं.

Hakuna Mipaka की वेबसाइट पर अपने मिशन के बारे में Dean Schneider बताते हैं-

'मेरा मिशन जितना संभव हो उतने लोगों तक पहुंचना और उन्हें वन्यजीवों के बारे में शिक्षित करना है, और वन्यजीवों की सुंदरता के बारे में बताना है. मैं लोगों की धारणाओं को बदलने और वन्यजीवों को बचाने के लिए जानकारी, पैशन और विज़ुअल्स की शक्ति में विश्वास करता हूं.'

इनकी पूरी कहानी एक बात तो साफ़ कर देती है कि ‘जहां चाह है वहां राह है.'