हिंदी की टीचर याद हैं? अरे वहीं, जो एक भी अंग्रेज़ी का शब्द कहने पर 100 ग्राम बेइज़्ज़ती कर देती थीं? दुनिया के कई अनसुलझे रहस्यों में से एक रहस्य ये भी है कि सबको पता है कि 'ष' से 'षटकोण' होता है, लेकिन आज की जनता को पता है भी है कि आखिर 'षटकोण' होता क्या है?


हां, तो यादों के गलियारे में ले जाने का मक़सद एक ही था... आपको नीचे तक स्क्रोल करने पर मजबूर करना. अब जब आप यहां तक पहुंच चुके हैं तो हम आपसे बेहद आसान से सवाल पूछ रहे हैं...

'अ से अ:' तक और 'क से ज्ञ' तक वर्णमाला सुना सकते हो? कोई सर्वे तो नहीं किया है पर पूरा यक़ीन है कि 95 प्रतिशत लोग हिंदी वर्णमाला ठीक नहीं सुना पाएंगे. चलिए कोई बात नहीं.

Source: Gfycat

अरे, गुस्साकर पेज क्रॉस मत करिए, बेइज़्ज़ती करने का हमारा कोई इरादा नहीं है. अगर पूरी वर्णमाला आपको नहीं आती है, तो इसमें आपकी कोई ग़लती भी नहीं है. पुरानी वर्णमाला में कई ऐसे शब्द है जो अब इस्तेमाल नहीं किये जाते हैं. आज की मिलेनियल जनता को ऐसी हिंदी वर्णमाला की ज़रूरत है, जो उन्हें उनकी भाषा में हिंदी सिखाये.

इसलिए इस हिंदी दिवस, यानि 14 सितम्बर को ScoopWhoop हिंदी आपके लिए लाने वाला है एक अनोखी मिलेनियल वर्णमाला. ये मिलेनियल वर्णमाला आप देख सकते हैं ScoopWhoop हिंदी के इंस्टाग्राम पेज पर.