Derek C. Lalchhanhima इस नाम से अब तक शायद आप अंजान होंगे, लेकिन ये तस्वीर आपको ज़रूर याद होगी. मिज़ोरम के सैरंग गांव का रहने वाला ये बच्चा आज सेलिब्रिटी बन चुका है.

Source: indiatimes

कौन है डेरेक?

6 साल डेरेक उस वक़्त सुर्खियां में आया जब साइकिल चलाते वक़्त उसकी साइकिल के नीचे एक 'चूज़ा' आ गया था. बुरी तरह से घायल होने के बाद ये चूज़ा मर चुका था, लेकिन डेरेक को इस बात का अंदाज़ा नहीं था. वो एक हाथ में 10 रुपये का नोट और दूसरे में चूज़े को लेकर मदद के लिए हॉस्पिटल जा पहुंचा था.

डेरेक जब इस चूज़े को लेकर हॉस्पिटल पहुंचा तो उसे देखकर हर कोई हैरान रह गया. वहां मौजूद एक नर्स ने डेरेक की एक तस्वीर खींच ली. कुछ दिन बाद ये तस्वीर जब सोशल मीडिया तक पहुंची तो हर कोई इस बच्चे की नेकदिली का कायल हो गया.

डेरेक की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होते ही वो रातों-रात हीरो बन गया था. इसके बाद इस नेक काम के लिए डेरेक को उसके स्कूल में सम्मानित किया गया था. अब डेरेक को पेटा इंडिया ने 'Compassionate Kid' का अवॉर्ड दिया है.

Source: indiatimes

पेटा इंडिया ने 'Compassionate Citizen' कार्यक्रम विशेष रूप से 8 और 12 साल के छात्रों की सहायता के लिए बनाया है.

एक हाथ में चूज़ा और दूसरे में पैसे लिए डेरेक की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होते ही केरल के आर्टिस्ट, सुनील पूकोडे ने भी एक शानदार पेंटिंग बनाई है. सुनील ने डेरेक की इस तस्वीर को कैप्शन के साथ अपने फ़ेसबुक पेज पर शेयर करते हुए लिखा 'डेरेक आप महान हैं'.

एक बात तो सच है कि डेरेक ने इस नेक कदम के चलते हर किसी को इंसानियत का पाठ पढ़ाया है.