ब्रह्मांड इतना बड़ा है कि इसका अंदाज़ा लगाना भी मुश्किल है. इसके साथ ही ब्रह्मांड कई अंजानी और ख़ौफ़नाक चीज़ों और घटनाओं का घर भी है. आज हम आपको इसी ब्रह्माण्ड में होने वाली रहस्यमयी घटनाओं के बारे में बताते हैं. जिनको जानने के बाद ब्रह्माण्ड में आपकी रूचि और बढ़ जायेगी.

चलिए गोता लगाते हैं ब्रह्मांड की अंनत गहराइयों में इन ख़ौफ़नाक चीज़ों के बारे में जानने के लिए: 

1. The Higgs Boson Doomsday 

पृथ्वी पर प्रलय को लेकर कई थ्योरीज़ हैं मगर इनमें से जो सबसे भयानक है उसके बारे में वैज्ञानिकों ने बताया है. हिग्स बोसोन प्रलय के बारे में स्टीफन हॉकिंग सहित कई वैज्ञानिकों का मानना रहा है कि ये हो सकता है, या पहले से ही हो रहा है. ऐसा माना जाता है कि ये प्रलय एक बुलबुले में भरे हिग्ज ऊर्जा में उतार-चढ़ाव के कारण शुरू होगी.

ग़ौरतलब है कि ब्रह्मांड के स्थिर बने रहने के लिए हिग्ज ऊर्जा का स्तर एक समान बना रहना ज़रूरी होता है. ये बुलबुला वैक्यूम की तरह फैल जाएगा और एटम को मौलिक रूप से री-प्रोग्राम कर देगा और कुछ मामलों में विघटित कर देगा. कुछ वैज्ञानिकों को लगता है कि यह पहले से ही शुरू हो गया है और ये बुलबुला ब्रह्मांड के अंधेरे भागों से जल्द ही हमारे रास्ते में आ सकता है. जबकि अन्य का मानना है कि ये भविष्य की बात है और तब तक हम इस ग्रह से मिट चुके होंगे.

Source: Listverse

2. Galactic Cannibalism

छोटी-छोटी आकाशगंगाओं को निगलती बड़ी आकाशगंगाएं और उसपर भी ये संभावना कि ऐसा हमारी मिल्की-वे आकाशगंगा के साथ हो सकता है, बेहद डरवाना ख्याल है. हालांकि, ये सच है फिर भी आप राहत की सांस ले सकते हैं क्योंकि निकट भविष्य में ऐसा नहीं होने जा रहा है. 

Andromeda नाम का एक आकाशगंगा लगभग 2 बिलियन साल पहले मिल्की-वे की एक Sister Galaxy को खा गया था. 4.5 बिलियन वर्षों में मिल्की वे का भी यही हाल होने की संभावना है. तब तक शायद मानव जाति आकाशगंगाओं के बीच यात्रा करने में सक्षम हो जायेगी या उसका नामो-निशान मिट जाएगा.

Source: Listverse

3.The Outcast Supermassive Black Hole 

इसमें कोई शक नहीं है कि ब्रह्मांड की सबसे विशाल चीज़ों के सामने हमारा महत्त्व धूल के एक कण से भी कम है. उनमें से एक है आकाशगंगा से निकला विशालकाय ब्लैकहोल. ये अब तक के खोज़े गए सबसे बड़े ब्लैक होल में से एक है. वैज्ञानिकों की गणना के अनुसार, इसके बनने में 100 मिलियन सुपरनोवा के ऊर्जा लगी होगी. ये विशालकाय ब्लैकहोल आकाशगंगा के केंद्र में दो ब्लैक होल के विलय से बना है.

Source: Listverse

4. Rogue Black Holes

ये सर्वविदित है कि ब्लैक होल से कोई नहीं और कुछ नहीं बच सकता, यहां तक कि 3 लाख किमी/घंटे की रफ़्तार वाली रौशनी भी नही. मगर ये बात और भी बुरी तब हो जाती है जब आपको पता चलता है अंतरिक्ष में बाकी चीज़ों की तरह ये भी घूमता रहता है. और अपने रास्ते में आने वाली सभी चीज़ों को नष्ट कर बहुत तेजी से आगे बढ़ता है. बृहस्पति (Jupiter) ग्रह जितना बड़ा एक ब्लैक होल फ़िलहाल हमारी मिल्की-वे में घूम रहा है. पहले इसे एक जगह स्थिर माना गया था, मगर हालिया शोधों के अनुसार वास्तव में ऐसा नहीं है.

Source: Listverse

5. Zombie Stars

'जो जिंदा है उसे कभी न कभी मरना है' ये ब्रह्मांड में हर चीज़ पर लागू होता है. किसी तारे की नष्ट होने की घटना ब्रह्मांड में सबसे दिलचस्प घटनाओं में से एक है. अंतरिक्ष में तारे मरते रहते हैं, एक दिन हमारा सूरज भी ख़त्म हो जाएगा. यह स्वाभाविक तरीका है, मगर तब क्या जब ऐसा न हो. 

कुछ दुर्लभ मामलों में तारे मर सकते हैं और जीवन में वापस आ सकते हैं, जैसे कुछ हुआ ही नहीं. ये कुछ ऐसा है जो वैज्ञानिकों को भी चकित कर रहा है. उन्होंने हाल ही में ऐसे तारों की ख़ोज की है जिनको अपने सुपरनोवा चरण में मर जाना चाहिए था लेकिन वो किसी तरह बच गए. हम अभी इन घटनाओं को समझ नहीं पाए हैं, इसीलिए उम्मीद है कि वे हमसे दूर रहेंगे.

Source: Listverse

 6. The Galaxies Without Dark Matter

अगर आप ब्रह्मांड के बारे में पढ़ते रहे हैं तो आप जानते होंगे कि दृश्यमान (Visible) ब्रह्मांड पूरे ब्रह्मांड का एक छोटा-सा अंश है. जबकि ब्रह्मांड का ज़्यादातर हिस्सा डार्क मैटर से बना है. 'डार्क मैटर' नाम इस बात का सबसे सटीक वर्णन है कि हम इसके बारे में कितना जानते हैं. हालांकि 'डार्क मैटर' से भी ज़्यादा रहस्मय है वो आकाशगंगा, जिसमें डार्क मैटर नहीं है. 

पहले ये माना जाता था कि जो भी 'डार्क मैटर' है वो ब्रह्मांडिए पिंडो को एक साथ रखने के लिए आवश्यक है. अब ये आकाशगंगा साबित करती है कि आकाशगंगाओं को एक साथ बांधे रखने के लिए डार्क मैटर आवश्यक नहीं है, जो रहस्य को और गहरा बना देता है.  

Source: Listverse

7. The Triple Galaxy Collision

भले ही आपको अपना जीवन कितना भी उबाऊ लग रहा हो, ब्रह्मांड में हर समय कुछ दिलचस्प चल रहा होता है. इन्हीं में से एक है तीन आकाशगंगाओं की दुर्लभ टक्कर. तस्वीरों में देखें तो अरबों तारे लिए विशालकाय आकाशगंगाओं का आपस में टकराना बहुत विस्फोटक घटना है. 3 आकाशगंगाओं के टकराने से तारों का एक-दूसरे में विलय होता है, जिससे बहुत तेज़ी से नए तारों का निर्माण होता है (केंद्र में प्रति वर्ष लगभग 200 तारें का निर्माण).

Source: Listverse

8. The Mystery Of The Biggest Black Hole Ever Found

ब्रह्मांड में काफी कुछ चीज़ें हैं जो हमें समझ में नहीं आती हैं, जो ठीक भी है क्योंकि हम सब कुछ नहीं जान सकते हैं. मगर हमें झटका तब लगता है जब हम सोचते हैं कि हमने कुछ पता लगाया है, और बाद में पता चलता है कि हमने कुछ पता नहीं लगाया था. इसका स्पष्ट उदाहरण है- SDSS J0100 + 2802, ब्रह्मांड में ख़ोजा गया अब तक का सबसे चमकीला और सबसे बड़ा ब्लैक होल. ये Quasar के केंद्र में है. 

वैज्ञानिकों ने हाल ही पता लगाया कि ये ब्लैक होल 420 ट्रिलियन सूरज के बराबर रौशनी देता है और अब तक सबसे विशाल Quasar है. हम ये नहीं जानते हैं कि ये कैसे बना, क्योंकि ब्रह्मांड के शुरुआती चरण में कुछ भी इतना बड़ा नहीं होना चाहिए था, जो इसे सबसे रहस्यमय ब्लैक होल भी बनाता है.  

Source: Listverse

9. The Coldest Place In The Universe 

अरबों-खरबों तारों के बावज़ूद ब्रह्मांड काफ़ी ठंडा स्थान है, क्योंकि तारों की गर्मी केवल इसके छोटे हिस्से के लिए पर्याप्त है. हालांकि, हम ये नहीं जानते हैं कि यह कितना ठंडा हो सकता है. कुछ वैज्ञानिकों के अनुसार, ज्ञात ब्रह्माण्ड में सबसे ठंडा स्थान बूमरैंग नेबुला ( नेबुला- अंतरिक्ष में गैस और धूल का एक विशाल गोला) है. यह इतना ठंडा है कि यहां पर औसतन तापमान -457.87F होता है. 

वैज्ञानिक कुछ समय से ये समझने की कोशिश कर रहे हैं कि इसके साथ क्या हुआ. एक हालिया अध्ययन के अनुसार, अपने जीवन के अंतिम चरणों से गुज़रने के दौरान एक तारा दूसरे बड़े तारे में मिल गया और इस प्रक्रिया के दौरान अधिकांश मैटर बाहर निकल कर इतना ठंडा हो गया. 

Source: Listverse

10. Strange Matter

'स्ट्रेंज मैटर' नाम से ही ये साफ़ हो जाता है कि वैज्ञानिकों के पास भी अभी कोई ख़ास जानकारी और सुबूत नहीं है, जिससे कि इसकी व्याख्या की जा सके. आप जानते हैं कि सामान्य पदार्थ परमाणुओं से बना होता है, जिसमें इलेक्ट्रॉन, प्रोटॉन और न्यूट्रॉन होते हैं. वे Quarks से बने होते हैं, जो हमारे आस-पास सब कुछ एक ख़ास गुण देते हैं. 

हालांकि, 'स्ट्रेंज मैटर' में Quarks बिल्कुल मुक्त होते हैं, वे क्या करेंगे और क्या नहीं, इस पर कोई सीमा या नियम नहीं है. वो अपने संपर्क में आने वाली हर चीज़ को अपने गुण दे सकते हैं. हालांकि, ये साबित नहीं हुआ है कि ब्रह्मांड में ये कहीं भी मौजूद हैं. फ़िलहाल ये केवल कागज़ पर है. हालांकि, हाल ही में वैज्ञानिकों ने कुछ ऐसा पाया है जो उनके हिसाब से 'स्ट्रेंज मैटर' हो सकता है. 

Source: Listverse

रात के आकाश में टिमटिमाते तारों की अपनी कहानी होती है. है कि नही!