देशभर में इन दिनों मोदी सरकार के 'कृषि बिल' को लेकर किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. बिल के विरोध में किसान भूखे-प्यासे सड़कों पर उतर आये हैं. इस दौरान कई संगठन किसानों के लिए खाने पीने का इंतज़ाम कर रहे हैं.

Source: theprint

धार्मिक सौहार्द्र की ऐसी ही एक मिसाल पंजाब के मालेरकोटला में देखने को मिली है. इस दौरान 'कृषि बिल' का विरोध कर रहे सिख समुदाय के किसानों के लिए मुसलमान भाईयों ने लंगर लगाकर एकता की मिसाल पेश की है.

Source: indiatimes

मामला 26 सितंबर को मालेरकोटला का बताया जा रहा है. इस दौरान मुस्लिम समुदाय के लोगों ने धरने वाली जगहों पर कैंप लगाकर किसान भाईयों के लिए मुफ़्त में भोजन की व्यवस्था की. ये किसानों के चक्काजाम के 1 दिन बाद वाले प्रदर्शन के दिन की घटना बताई जा रही है.

Source: indiatimes

मालेरकोटला में मुस्लिम भाईयों की ओर से लगाए गए लंगर की ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल हो रही है. इस नेक काम के लिए लोग इनकी काफ़ी प्रशंसा कर रहे हैं.

Source: indiatimes

लेखक और सोशल एक्टिविस्ट हर्ष मंदर लिखते हैं, CAA-NRC का विरोध कर रही बहनों के लिए पंजाब के किसान लंगर लगाने दिल्ली आए थे. अब मालेरकोटला के मुस्लिम युवकों ने पंजाब के प्रदर्शनकारी किसानों के समर्थन में लंगर लगाया है. प्यार का ये बंधन दिखाता है कि भारत सुरक्षित है.

इस साल की शुरुआत में CAA-NRC के विरोध में दिल्ली के शाहीन बाग में भी ऐसा ही नज़ारा देखने को मिला था. इस दौरान धरने पर बैठी मुस्लिम समुदाय की महिलाओं के लिए सिख समुदाय के लोगों ने लंगर लगाया था और खाने-पीने की चीज़ें फ़्री में वितरित की थी.