भारत एक ऐसा देश है, जहां न जाने कितनी भाषा, बोली, रंग, जाति और संस्कृति के लोग रहते हैं. और सबके लिए अपनी भाषा का एक अलग महत्व है. इसलिए जिसको जिस भाषा में बात करनी अच्छी लगती है उसे करने देना चाहिए. क्योंकि अपनी भाषा में बात करना सबको अच्छा लगता है. इसलिए किसी से उसकी भाषा और संस्कृति को लेकर कोई राय नहीं बनानी चाहिए.

ठीक वैसे ही अगर आपके सर्किल में कोई दक्षिण भारतीय व्यक्ति है, तो उससे भूलकर ये 9 बातें न बोलें.

Source: tripsavvy

ये रहीं वो बातें:

1. उत्तर भारत में दोस्तों से गाली देकर बात करना सामान्य है, लेकिन दक्षिण भारत में ऐसा नहीं होता है.

2. फ़िल्मों में साउथ इंडियन लोगों को जैसा दिखाया जाता है, वो वैसे बिल्कुल भी नहीं होते हैं.

3. एक बात का ध्यान रखें, Dosa को 'दोसा' बोलें न कि 'डोसा'. Sambar को 'सांबर' बोलें न कि 'सांभर'.

Source: ndtv

4. ये कभी मत पूछें कि आप लोग सिर्फ़ इडली-दोसा क्यों खाते हो? क्योंकि इसके अलावा भी बहुत से स्वादिष्ट व्यंजन हैं, जो साउथ इंडियंस बनाते हैं.

5. कभी भाषा को लेकर कुछ न कहें, क्योंकि जो लोग हिंदी भाषी क्षेत्रों में नहीं रहते उन्हें हिंदी सीखने की ज़रूरत नहीं पड़ती. वो अपनी भाषा बोलते लिखते और पढ़ते हैं.

6. साउथ में सब लोग लुंगी पहनें ऐसा ज़रूरी नहीं है, यहां तक कि कुछ लोग तो लुंगी पहनना जानते भी नहीं होंगे, इसलिए 'लुंगी पहनने वाले' कहकर परिचय न दें.

Source: ytimg

7. किसी साफ़ रंग या गोरे रंग वाले दक्षिण भारतीय से ये ना कहें कि आप तो उत्तर भारतीयों जैसे लगते हो.

8. ये ग़लत धारणा है कि दक्षिण भारत में मद्रासी बोली जाती है, क्योंकि मद्रासी कोई भाषा नहीं है. दक्षिण भारत में 4 प्रमुख भाषाएं हैं, जो राज्य के हिसाब से बोली जाती हैं.

9. दक्षिण भारत में रावण की पूजा करते हैं. इसलिए इस पर कोई टिप्पणी न दें.

Source: vanamaliashram

अगर कोई दक्षिण भारतीय व्यक्ति आपके जानने वालों में है, तो इन बातों का ध्यान ज़रूर रखें.

इसी तरह के आर्टिकल पढ़ने के लिए क्लिक करें.