1997 में आई जेम्स कैमरून की फ़िल्म टाइटैनिक तो देखी ही होगी. इस फ़िल्म की कहानी उस शिप पर बेस्ड थी, जिसके बारे में कहा गया था कि वो कभी नहीं डूबेगा, लेकिन टाइटैनिक की त्रासदी तो देखिए, वो डूबा भी उसी ट्रिप पर जो उसकी पहली ट्रिप थी. फ़िल्म में आपने जो टाइटैनिक जहाज़ देखा, वो असली नहीं थीं. इसलिए हम आपके लिए उस जहाज़ की कुछ रीयल फ़ोटोज़ लेकर आए हैं, जो टाइटैनिक के यात्रा पर निकलने से पहले ली गई थीं.

ये तस्वीरें देखकर आपको समझ आ जाएगा कि ये घटना कितनी भयावह थी...

टाइटैनिक 269 मीटर लंबा जहाज़ था, जो 10 मंज़िला था.

अपने एक सहयोगी के साथ टाइटैनिक के कैप्टन Edward J. Smith.

जहाज़ पर जाते यात्री.

टाइटैनिक पर खेलते इस बच्चे की तस्वीर, उसके डूबने से कुछ दिन पहले ली गई थी.

Margaret Brown टाइटैनिक की फ़र्स्ट क्लास पैसेंजर और सर्वाइवर्स में से एक.

यही वो बर्फ़ की चट्टान है, जिससे टाइटैनिक टकरा कर डूब गया था.

जहाज़ के डूबने के बाद लाइफ़ बोट्स से कुछ पैसेंजर्स को बचाया गया था.

लाइफ़ बोट में बैठे इन लोगों ने टाइटैनिक को डूबते हुए देखा था.

Carpathia नाम का जहाज़ इस दुर्घटना के 2 घंटों बाद रेस्क्यू के लिए पहुंचा था.

एक सर्वाइवर फै़मिली की तस्वीर.

टाइटैनिक से बचकर निकली मां-बेटी.

एक और सर्वाइवर.

ये दोनों बच्चे इस घटना के बाद अनाथ हो गए थे.

कुछ लोगों को बचाकर इंग्लैंड के Millbay तट पर ठहराया गया था.

टाइटैनिक के डूबने की ख़बर सुनने के बाद इस जहाज़ की मालिकाना कंपनी White Star के बाहर खड़ी लोगों की भीड़.

अपने परिजनों का इंतज़ार करते लोग.

अपनों के लिए फ़िक्रमंद कुछ और लोग.

शाम को ही अख़बारों में टाइटैनिक के डूबने की ख़बर छप गई थी.

सर्वाइवर और उनकी फ़ैमिलीज़ के लिए फ़ंड जुटाते लोग.

इसी सिलसिले में एक बेसबॉल मैच भी आयोजित किया गया था. इसे 14000 लोगों ने देखा था.

टाइटैनिक के यात्रियों को बचाने के लिए पहुंचे जहाज़ के कैप्टन Arthur Henri Rostron को बाद में सम्मानित किया गया था.

न्यूयॉर्क के Seamen’s Church Institute में दिवंगत लोगों के लिए आयोजित की गई शोकसभा.

Isidor और Ida Straus, वो कपल जो एक साथ डूब गये थे. इनकी याद में एक मेमोरियल बनाया गया था.

टाइटैनिक से जुड़ी ये तस्वीरें देखकर आपके सामने भी वो मंज़र छा गया होगा.