देश को आज़ाद हुए 7 दशक से ऊपर हो गए हैं. लेकिन वर्तमान में बहुत से लोग ऐसे हैं, जिन्होंने आज़ादी के बाद के भारत के बारे में या, तो पढ़ा है या फिर किस्से कहानियों में सुना है. देश की आज़ादी के बाद के शुरुआती दौर में भारत कैसा दिखाई देता था, उन्हें इसका कोई अंदाज़ा नहीं है. इसी कमी को दूर करने के लिए हमने उस ब्लैक एंड वाइट ऐरा की कुछ तस्वीरें आपके लिए तलाश की हैं. इन तस्वीरों में आपको पुराने भारत की दर्शन हो जाएंगे.

पहले लोकसभा चुनाव के लिए कुछ इस तरह कांग्रेस के लिए प्रचार किया गया था.

1952 में हुए पहले आम चुनावों में वोट देने के लिए कतार में खड़े लोग.

दिल्ली रेलवे स्टेशन से पाकिस्तान के लिए रवाना होती एक रेलगाड़ी.

बंटवारे के बाद उजड़े एक गांव की तस्वीर.

महात्मा गांधी से मिलते बर्मा(म्यांमार) के तत्कालीन प्रधानमंत्री.

महात्मा गांधी को मारने के बाद कोर्ट में अपने मुकदमें की सुनवाई करता नाथुराम गोडसे.

मालाबार तट पर सवारी का इंतज़ार करते कुछ रिक्शावाले.

एक जर्नलिस्ट से बहस करती इंदिरा गांधी.

Billiards खेलते पंडित जवाहर लाल नेहरू.

एक पारसी महिला अपने बेटे के साथ.

अपने पालतू शेर के साथ उदयपुर के राजा.

अपनी पत्नी के साथ पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री.

डॉ. भीमराव अंबेडकर अपनी पत्नी और सेवक के साथ.

देश के पहले डिजिटल कंप्यूटर का निरिक्षण करते पंडित जवाहर लाल नेहरू.

1956 में राजनैतिक कैदियों को रिहा करने लिए प्रदर्शन करते कुछ लोग.

1958 में हुए सूर्य ग्रहण के दौरान कुरुक्षेत्र में नदी में स्नान करते लोग.

1959 में क्यूबन क्रांतिकारी चे ग्वेरा का भारत में स्वागत करते कुछ लोग.

Oxford University Convocation के एक सम्मेलन में हिस्सा लेते डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन.

Rolls Royce Depot मुंबई.

भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव को फ़ांसी दिए जाने का आदेश.

सिंगापुर में एक सभा को संबोधित करते सुभाष चंद्र बोस.

1946 में कांग्रेस की वर्किंग कमेटी की एक मीटिंग में हिस्सा लेते जवाहर लाल नेहरू और राजेंद्र प्रसाद.

इंदिरा गांधी अपनी बहुओं के साथ विदेश में शॉपिंग करते हुए.

1971 में बांग्लादेश की आज़ादी के बाद भारतीय सेना के सामने पाकिस्तानी सेना के सरेंडर का दस्तावेज़.

हैं न इंटरेस्टिंग, तो इसी बात पर इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कर दो.