आज यानी 23 जुलाई को भारत के वीर सुपूत बाल गंगाधर तिलक की जंयती है. ‘स्वराज मेरा जन्म सिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूंगा.’, ये नारा इन्होंने ही दिया था. इस नारे के ज़रिये ही बाल गंगाधर तिलक ने सबसे पहले ब्रिटिश राज में पूर्ण स्वराज की मांग उठाई थी. उनके विचारों में अलग तरह की शक्ति थी, जिससे कोई भी प्रेरित हो सकता है. यही नहीं आज भी बाल गंगाधर तिलक के विचार उतने ही मायने रखते थे, जितने तब रखते थे.

आइए जानते हैं बाल गंगाधर तिलक के कुछ ऐसे ही प्रेरणादायक विचारों के बारे में...

1.

2.

3.

4.

5.

6.

7.

8.

9.

10.

भारत के इस वीर सुपूत को हमारा शत-शत नमन!