हाल ही में तेलंगाना से एक बेहद दुखद ख़बर सामने आई है. 45 दिन तक लगातार PUBG खेलने की वजह से एक 20 साल के युवक की मौत हो गई. युवक की नाक में तेज़ दर्द होने लगा जिसकी वजह से उसकी मौत हुए.

Source: igyaan.in

कर्नाटक का एक छात्र PUBG खेलने में इतना व्यस्त रहा कि वो साल के प्री-यूनिवर्सिटी एग्ज़ाम में फेल हो गया. दरअसल, वो इकोनॉमिक्स के पेपर में 'PUBG गेम कैसे खेलते हैं' लिखकर आ गया था.

Source: officialsmartphoneblog

एक अन्य मामले में मध्य प्रदेश के एक युवक ने ग़लती से पानी की जगह एसिड पी लिया था, क्योंकि वो उस वक़्त अपने मोबाइल पर PUBG खेलने में व्यस्त था.

Source: dotesports

इस तरह की ख़बरें आने के बाद गुजरात समेत देश के कई हिस्सों में मोबाइल वीडियो गेम PUBG को बैन करने की मांग उठने लगी. इन तमाम विवादों के बाद आख़िरकार PUBG गेम के डेवलपर्स ने फ़ैसला लिया कि अब भारतीय यूज़र्स इस गेम को सिर्फ़ 6 घंटे तक ही खेल सकेंगे.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक़ लगातार दो घंटे तक PUBG खेलने के बाद यूज़र्स को पहला रिमाइंडर मिलेगा, जिसमें बताया जायेगा कि उन्हें PUBG खेलते हुए 2 घंटे से ज़्यादा हो गए हैं. अगर यूज़र्स इसे इग्नोर कर दें तो कुछ ही देर बाद एक और रिमाइंडर आएगा, जिसमें यूजर्स को कुछ देर का ब्रेक लेने के लिए कहा जायेगा. यदि यूजर्स इसे भी इग्नोर कर दें तो उन्हें तीसरा हेल्थ रिमाइंडर मिलेगा. तीसरे रिमाइंडर के करीब 15 मिनट बाद तक PUBG स्टार्ट नहीं होगा.

रिपोर्ट के मुताबिक़ इस तरह की शिकायतें सिर्फ़ भारतीय यूज़र्स से ही आ रही हैं. अन्य देशों के यूज़र्स को इस तरह का कोई भी रिमाइंडर नहीं मिल रहा है.

Source: indiatimes

हाल ही में गुजरात की एक मनोवैज्ञानिक संस्था ने 100 अभिभावकों को बच्चों के साथ काउंसलिंग के लिए बुलाया था. इस दौरान 40 स्कूलों के 8वीं से 12वीं के बीच पढ़ने वाले बच्चों से बात की गई. इस दौरान पता चला कि सभी PUBG खेलने के शौकीन हैं. इस गेम को खेलने वाले 90 फ़ीसदी बच्चों ने स्कूल जाना ही बंद कर दिया था. बाकी 10 फ़ीसदी बच्चे शेड्यूल टाइमिंग में पढ़ते तो हैं, लेकिन बाकी समय में वो भी मोबाइल पर लगे रहते हैं.

Source: indiatimes

हाल ही में चीन ने 13 साल से कम उम्र के बच्चों को PUBG गेम खेलने पर प्रतिबंध लगा दिया है.