सिस्टम के ज़रिये समाज में बदलाव लाने और उसे कुछ देने के लिए देश के युवा UPSC की परीक्षा देते हैं. इस परीक्षा को पास करना आसान नहीं. इसके लिए छात्रों को जी तोड़ मेहनत करनी पड़ती है. गुजरात के सफ़ीन हसन ने भी ये सपना देखा था. उन्होंने न सिर्फ़ अपना ये सपना पूरा किया, बल्कि एक इतिहास भी रच दिया.

Source: anandabazar

दरअसल, गुजरात के सफ़ीन हसन जिनकी उम्र महज 22 साल है, वो देश के सबसे युवा Indian Police Service (IPS) ऑफ़िसर बन गए हैं. वो आने वाली 23 दिसंबर को जामनगर ज़िले के Assistant Superintendent Of Police का पद संभालेंगे.

Source: blogspot

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सफ़ीन गुजरात के छोटे से गांव कणोदर के रहने वाले हैं. उनके पिता मुस्तफ़ा हसन और मां नसीमा बानो हीरा तराशने का काम करते हैं.

बेटे की पढ़ाई के लिए पैसे कम पड़ने पर उनकी मां ने होटल और कई शादियों में रोटियां बनाने का काम भी किया है. माता-पिता को उनके लिए कड़ी मेहनत करते देख सफ़ीन हमेशा उनके लिए कुछ करने की सोचते थे. आज उनकी मेहनत रंग लाई है और उनका बेटा एक आईपीएस ऑफ़िसर बन गया है.

Source: iaspassion

सफ़ीन हसन देश की सेवा करने के लिए उत्साहित हैं. उनका कहना है कि वो पहले IAS ऑफ़िसर बनना चाहते थे, लेकिन दो बार परीक्षा में पास न होने के चलते उन्होंने आईपीएस को चुना. उन्होंने साल 2018 में UPSC की परीक्षा में 570वीं रैंक हासिल की थी.

सफ़ीन हसन की पढ़ाई गुजरात से ही हुई है. यहीं रहते हुए उन्होंने गुजरात पब्लिक सर्विस कमीशन की परीक्षा भी पास कर ली थी. मगर उनके मन में हमेशा IAS अफ़सर बनने की इच्छा थी. इसलिए उन्होंने साल 2018 में UPSC की परीक्षा दी थी. इसे पास करने के बाद वो गुजरात कैडर से आईपीएस की ट्रेनिंग के लिए हैदराबाद चले गए.

तमाम विषम परिस्तिथियों के बावजूद आज अपने सपने को पूरा करने वाले सफ़ीन को हमारा सलाम.

Life से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.