प्लास्टिक की समस्या से निपटने का सबसे अच्छा तरीका तो यही है कि इसके प्रति दीवानगी को छोड़ा जाए. मगर इस पर अमल करना बहुत ही मुश्किल है. ऐसे में हमें सिक्किम से सबक लेना चाहिए, जहां प्लास्टिक की बोतलों से होने वाली गंदगी और प्रदूषण से बचने के लिए बांस की बोतल का विकल्प पेश किया है.

Sikkim introduces bamboo water bottles
Source: blogs

प्लास्टिक की बोतलों पर बैन लगा बांस की बोतलों को इंट्रोड्यूस करने वाले इस शहर का नाम है Lachen. ये सिक्किम का फ़ेमस टूरिस्ट स्पॉट है. जहां की बर्फ़ से घिरी वादियों को देखने के लिए हर साल लाखों टूरिस्ट आते हैं. ये पर्यटक अपने पीछे प्लास्टिक की बोतलें छोड़ जाते हैं. इससे गंदगी भी फैलती है और प्रदूषण भी.

Sikkim introduces bamboo water bottles
Source: thestateonlinengr

इस समस्या से निपटने के लिए Lachen के लोगों ने पर्यटकों पर प्लास्टिक की बोतल का इस्तेमाल करने पर रोक लगा दी है. इसका विकल्प पेश करते हुए उन्होंने बांस की शानदार बोतलें ख़ास तौर पर असम से ऑर्डर की हैं. सिक्किम से राज्य सभा सांसद Hishey Lachungpa ने फ़िलहाल 1000 बोतलों का ऑर्डर दिया. ज़रूरत पड़ने पर इन्हें बड़ी मात्रा से वहां से मंगाया जाएगा.

Sikkim introduces bamboo water bottles
Source: bcmtouring

प्लास्टिक की बोतलों पर बैन लगाने के बाद इनका अगला कदम खाने पीने के पैकेट्स में इस्तेमाल होने वाले प्लास्टिक पर बैन लगा उसका विकल्प तलाशना है. गौरतलब है कि सिक्किम ने 1998 में ही पानी की प्लास्टिक की बोतलों पर बैन लगाने की तरफ पहला कदम बढ़ाया था.

2016 में राज्य सरकार ने सचिवालय में भी इनके इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी. Lachen में टूरिस्ट बसों को रोक कर उनकी चेकिंग की जाती है कि कहीं कोई पर्यटक चुपके से प्लास्टिक की पानी की बोतल तो नहीं ले जा रहा.


प्लास्टिक की समस्या से निपटने के लिए हमें इस शहर से सबक लेना चाहिए. है कि नहीं?

Life से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.