कार्तिक पूर्णिमा के दिन सिख धर्म के संस्थापक गुरुनानक देव का जन्म हुआ था. इस ख़ास दिन को हम सब गुरुनानक जयंती के रूप में जानते हैं, जो सिख धर्म के लोगों के लिये एक बड़े पर्व की तरह भी है. गुरुनानक साहब के लिये इंसानियत से बड़ा कोई धर्म नहीं था और उनका यही ज्ञान सिख धर्म के लोग आज तक फ़ॉलो करते आ रहे हैं.

गुरुनानक साहब की इसी नेक शिक्षा को दुनिया के कोने-कोने तक पहुंचाने का ज़िम्मा लिया है, वैंकूवर के छह बाइकर्स ने. ये 6 लोग कनाडा के सिख मोटर साइकिल क्लब का हिस्सा भी हैं.

ये 6 बाइकर्स विश्वभर में न सिर्फ़ गुरुनानक साहब के मानवतावाद के संदेश को फ़ैलाएंगे, बल्कि ख़ालसा एड इंटरनेशनल के लिये धन जुटाने का प्रयास भी करेंगे, ताकि ये संगठन दुनियाभर के लोगों की मदद जारी रख सके. इन बाइकर्स की यात्रा ब्रिटेन से शुरु हो कर अमृतसर में ख़त्म होगी. बाइकर्स को अपनी ये यात्रा पूरी करने में लगभग 45 दिन लगेंगे. इस दौरान वो कई देशों और शहरों से होकर गुज़रेंगे. यही नहीं, बाइकर्स गुरुनानक जी का संदेश पहुंचाने के लिये, उनके जन्मस्थान पाकिस्तान भी जायेंगे.

Source: patrika

इस साल गुरुनानक साहब की 550वीं जयंती मनाई जायेगी और हम उम्मीद करते हैं कि उनका ये संदेश दुनियाभर के लोगों तक ज़रूर पहुंचेगा.