पिछले कुछ दशकों में हम टेक्नोलॉजी के मामले में काफ़ी आगे निकल चुके हैं. इसमें कोई दोराय नहीं है कि इससे हमारी ज़िंदगी काफ़ी आरामदायक बन गई है, पर इस वजह कई समस्याएं भी खड़ी हो गई हैं. अब जैसे मोबाइल फ़ोन के आने से हम किसी से भी सेकेंड में बात कर सकते हैं, लेकिन इसी मोबाइल की दुनिया ने हमें अपनों से भी दूर किया है.

आज हमारे लिये रिश्तों से ज़्यादा ज़रूरी फ़ोन बन चुका है. इसलिये एक बार हम अपनों के बिना रह सकते हैं, पर फ़ोन के बिना कुछ मिनटों के लिये भी ज़िंदगी बेजान लगती है. फ़ोन की दुनिया आज हमें भले ही अच्छी लग रही है, पर असल में ये हमारे लिये हानिकारक है. इस बात को बोल कर समझाना थोड़ा मुश्किल था. इसलिये US फ़ोटोग्राफ़र Eric Pickersgill ने आज की इस समस्या को तस्वीरों के ज़रिये बयां किया है.

फ़ोटोग्राफ़र ने 'Removed' नामक एक सीरीज़ शुरू की है, जिसमें उसने तस्वीरें लेने से पहले लोगों के हाथों से फ़ोन को हटा दिया और परिणाम काफ़ी भयानक निकला.

1. पास-पास होकर भी दूर हैं.

2. क्यों हर समय फ़ोन से चिपकना ज़रूरी है?

3. 4 महिलाएं जब साथ होती हैं, तो बात ही बात होती है. पर यहां सब फ़ोन में लगे हुए थे.

4. अपनों के लिये समय ही नहीं है.

5. यही वजह है कि हम अकेले हैं.

6. शायद करने के लिये बात ही नहीं है.

7. बच्चों की दुनिया भी फ़ोन ही है.

8. एक इंसान काम में व्यस्त है और दूसरा फ़ोन में.

9. क्या किया जाये इस फ़ोन का?

फ़ोन हमारी सुविधा के लिये बनाया गया है, लेकिन हम इसमें इतना खो गये हैं कि छोटी-छोटी ख़ुशियों से भी दूर होते जा रहे हैं. ज़िंदगी एक बार मिली है, इसे फ़ोन के साथ नहीं अपनों के साथ बिताएं.