कोविड- 19 के दौर में लाखों लोगों को घर पहुंचाने वाले सोनू सूद रुक ही नहीं रहे हैं. एक के बाद एक नेक़ काम करके वो दिलों को जीतते जा रहे हैं.

Rajesh Karanam नामक एक बंदे ने सोनू सूद को तेलंगाना के तीन बच्चों के बारे में बताया. राजेश ने बताया कि तीनों में जो सबसे बड़ा भाई है वो ही अपने छोटे भाई-बहनों का ख़याल रख रहा है.  

सोनू सूद ने इसके जवाब में लिखा,

'ये बच्चे अब अनाथ नहीं हैं.
ये अब मेरी ज़िम्मेदारी हैं.' 

Times of India की रिपोर्ट के अनुसार, तीनों में सबसे बड़े भाई, 9 वर्षीय मनोहर ने कहा, 'मैंने सोनू सूद अंकल के कई वीडियो देखे हैं. अगर ऐसे ही एक अंकल मेरी मदद को आगे आते, मैं बड़ा होकर डॉक्टर बन कर ग़रीबों की मदद करना चाहता हूं.'

इन बच्चों के पिता, सत्यनारायण की मृत्यु लगभग एक साल पहले हो गई थी. मज़दूरी करने वाली बच्चों की मां, अनुराधा कुछ हफ़्तों पहले बीमार पड़ीं और उसकी भी मौत हो गई. गांववालों ने पैसे इकट्ठा करके उसका अंतिम संस्कार किया. 

सोनू सूद के ट्विट पर 1 लाख से ज़्यादा लाइक्स आ चुके हैं. लोगों ने सोनू सूद को सलाम कहा-