आज कल के बच्चे छोटी सी उम्र में बड़े-बड़े कमाल कर रहे हैं. मिलिये 12 साल के मृगेंद्र राज से, जो अपनी उम्र के बच्चों से ही नहीं, बल्कि बड़ों से भी बहुत आगे है. मृगेंद्र उत्तरप्रदेश के अयोध्या का रहने वाला है और अब तक वो 135 किताबें लिख कर कई रिकॉर्ड बना चुका है.

Source: youtube

रिपोर्ट के अनुसार, मृगेंद्र ने 6 साल की उम्र में लिखना शुरू किया था. इसके बाद उसने धर्म और जानी-मानी हस्तियों के जीवन पर कई क़िताबें लिख डाली हैं. पढ़ने वालों का कहना है कि मृगेंद्र की क़िताबें रोचक और प्रेरणादायक होती हैं. इसी हुनर की वजह से वो अब तक 4 वर्ल्ड रिकॉर्ड और बहुत से राष्ट्रीय रिकॉर्ड हासिल कर अपनी झोली भर चुका है.

Source: newstracklive

मृगेंद्र की इसी अनोखी क़ाबिलियत की वजह से लोग उसे 'अभिमन्यु' के नाम भी जानते हैं. यही नहीं, आज के इस अभिमन्यु को लंदन में वर्ल्ड रिकॉर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा डॉक्टरेट करने के लिए भी बुलाया गया था. अपने इस हुनर के बारे में ANI से बात करते हुए मृगेंद्र ने बताया, 'मैंने महाकाव्य रामायण के 51 पात्रों पर क़िताबें लिखी हैं. मैंने महाकाव्यों का अध्ययन करके रामायण के 51 पात्रों का विश्लेषण किया है. मैंने उस ज्ञान को अपनी क़िताबों में डाल दिया है. मेरी क़िताब की लंबाई 25 सेमी. है जिसमें 100 पन्ने हैं. '