देश-दुनिया में हर दिन कोई न कोई महिला एसिड अटैक का शिकार होती है. इसके बाद कुछ ज़िंदगियां वहीं ख़त्म हो जाती है, तो कुछ गिर कर फिर से चलने की हिम्मत दिखाती हैं. इस तरह की एक कहानी वियतनाम से भी सामने आई है, जहां एक महिला उसके पति द्वारा ही एसिड अटैक का शिकार हो गई. इस तस्वीर में आप Dang Thi Thanh Huyen को अपनी बच्ची के साथ हंसते-मुस्कुराते ख़ुश देख सकते हैं.

34 साल की Dang Thi Thanh Huyen इंग्लिश टीचर है, जिसकी हालत अब कुछ ऐसी हो चुकी है.

दोनों तस्वीरों में जो फ़र्क दिख रहा है वो किसी का भी दिल चीर दे. Huyen, Yen Vien Ward-Gia Lam District की रहने वाली है, जिसके एक्स-हसबैंड ने 2008 में उसके ऊपर एसिड फेंक दिया था. Huyen कोमा में थी, पर फिर डॉक्टर ने उसे बचाने की ठानी और आज वो अपनी बेटी के साथ नई ज़िंदगी जी रही है.

1. आज जो भी लोग Huyen के पास नहीं हैं, वो उनके लिये भी दुआ करती है.

2. मां-बेटी एक-दूसरे की ताक़त हैं.

3. बेटी की ख़ुशी के लिये वो हर दर्द सह जाती है.

4. बेटी अपने पिता को उसकी इस करतूत के लिये माफ़ नहीं करना चाहती, पर Huyen उसे दर्द में भी लोगों को माफ़ करने की सीख दे रही है.

5. बेटी अपनी मां को ख़ुश रखने की हर मुमकिन कोशिश करती है.

6. Huyen बेटी को पढ़ा कर उसका भविष्य सांवरना चाहती है.

7. Huyen जैसी महिलाओं को आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता.

8. बाल नहीं हैं, फिर Huyen की बेटी उसकी कंघी करना नहीं भूलती.

9. ये प्यार और मां-बेटी की ज़िंदगी कई लोगों के लिये हिम्मत है.

10. ख़ूबसूरती यही है.

11. Huyen अपने स्टूडेंट्स को दोबारा पढ़ाने के लिये तैयार है.

12. हर बेटी के लिये उसकी मां सबसे ख़ूबसूरत महिला होती है.

13. फ़ोटोग्राफ़र को भी इस स्टोरी को कवर करने के लिये फ़ुल नबंर मिलने चाहिये.

आज भी बस वही सवाल है कि आखिर कब तक महिलाएं एडिस अटैक का शिकार होती रहेंगी? साथ ही इस महिला और उसकी छोटी बेटी की हिम्मत को सलाम!