थॉमस अल्वा एडिसन सबसे प्रसिद्ध आविष्कारकों में से एक हैं. 1847 में पैदा हुए एडीसन अपने समय से काफी आगे थे. उनके द्वारा बनाई गयी चीज़ों ने आज की दुनिया में बहुत प्रभाव डाला. इन आविष्कारों के बिना आज की दुनिया की कल्पना ही नहीं की जा सकती. लाइट बल्ब को बेहतर बनाना, फ़ोनोग्राफ़ और मोशन पिक्चर कैमरा जैसी चीज़ें जो आज हमारे जीवन का अटूट हिस्सा हैं, सबका आविष्कार एडिसन ने ही किया. 

एडिसन की समय से आगे सोच और हैरत कर देने वाले आविष्कारों को देख तब के लोग भौंचक्के हो जाते थे. 84 साल के जीवन में एडिसन के नाम कुल 1,093 पेटेंट हैं. अजब-ग़ज़ब आविष्कारों के चलते उस समय के लोग एडिसन को जादूगर कहके बुलाते थे. आइये जानते हैं एडिसन के 6 आविष्कार जिन्होंने दुनिया बदल दी. 

1. टिन-फॉयल में आवाज़ रिकॉर्ड करने वाला फ़ोनोग्राफ़: 

1876 में एडिसन ने न्यू जर्सी के मेन्लो पार्क में अपनी एक लैब बनाई. ठीक एक साल बाद उन्होंने कुछ ऐसा बना दिया जिस पर लोग यकीन ही नहीं कर पा रहे थे. यह आविष्कार एक फ़ोनोग्राफ़ का था, जो एक सिलेंडर पर लिपटी टिन-फॉयल में आवाज़ रिकॉर्ड करता था. हालांकि रिकार्डेड आवाज़ उतनी अच्छी नहीं होती थी मगर इस अविष्कार ने लोगों को चौंका दिया.

अपने इस अविष्कार के चलते एडिसन लोगों के बीच फ़ेमस हो गए. लोग उन्हें "मेन्लो पार्क का जादूगर" बुलाने लगे.  

Source: pixabay

2. मरे हुए लोगों से बात कराने वाला 'स्पिरिट फ़ोन' 

1920 में एक मैगज़ीन को इंटरव्यू देते हुए एडिसन ने कहा था, "मैं पिछले कुछ समय से एक डिवाइस पर काम रहा हूं. मैं यह देखना चाहता हूं कि जो लोग हमें छोड़ कर चले गए हैं क्या वो हमसे बात कर सकते हैं."

एडिसन की 'स्पिरिट फ़ोन' वाली बात ने मीडिया में तूफ़ान ला दिया. कई सालों तक इतिहासकारों ने इस आविष्कार को मज़ाक समझा क्योंकि इस अविष्कार का ब्लूप्रिंट या प्रोटोटाइप नहीं मिला. मगर एडिसन की डायरी में ऐसा कुछ-कुछ ज़िक्र है जिससे अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि शायद एडिसन ये कर पाने में सफल हुए थे. मगर ये बात भी साबित नहीं हो पायी.  

Source: forbes

3. लाइट बल्ब और इलेक्ट्रिक लाइट सिस्टम को और बेहतर करना: 

एडिसन ने 1878 में बिजली की रौशनी पाने के तरीके खोजने पर काम शुरू किया. एडिसन ने प्रकाश बल्ब का आविष्कार भले न किया हो, लेकिन उन्होंने उस समय मौजूद मॉडलों को अच्छा बनाने और उनकी रोशनी को लंबे समय तक बनाए रखने की कोशिश पर काम किया. 

एडिसन बिजली को सस्ता और आसानी से उपलब्ध बनाना चाहते थे, उनका कहना था, "हम बिजली को इतना सस्ता कर देंगे कि सिर्फ़ अमीर ही मोमबत्ती जलाएगा." 

Source: businessinsider

4. ऑटोमैटिक टेलीग्राफ: 

1830-1840 के दशक में सैमुअल मोर्स और अन्य आविष्कारकों द्वारा बनाये गए टेलीग्राफ़ के ने पूरी दुनिया मे तहलका मचा दिया क्योंकि अब लोग लंबी दूरी के बावजूद जानकारी दूसरों तक पहुंचा पा रहे थे. इस टेलीग्राफ़ में ऑपरेटर मोर्स कोड में संदेशों को सुनकर उसका अनुवाद करता था.

थॉमस एडिसन ने टेलीग्राफ में बहुत ज़्यादा सुधार किया. उन्होंने एक केमिकल रिकॉर्डिंग सिस्टम की खोज की. पहले टेलीग्राफ में 25-40 शब्द प्रति मिनट रिकॉर्ड कर सकता था मगर इसकी मदद से अब टेलीग्राफ हर मिनट 1,000 शब्दों को रिकॉर्ड कर पा रहा था.  

Source: biography

5. किनैटोग्राफ़ और किनैटोस्कोप, जिससे मोशन पिक्चर को रिकॉर्ड किया और देखा जा सकता था. 

एडिसन की कंपनी द्वारा आविष्कार किये गए किनैटोग्राफ़ ने बहुत बड़ा बदलाव किया. एडिसन ने इस कैमरे पर विलियम कैनेडी डिकसन के साथ मिलकर काम किया था, जिन्हें इस आविष्कार का श्रेय मिला.

1891 में, एडिसन ने एक यंत्र बनाया जिसे किनैटोस्कोप कहा. इसमें एक छेद से छोटी-छोटी फ़िल्में देखी जा सकती थीं.  

Source: theasc

6. इलेक्ट्रिक कारों में इस्तेमाल की जाने वाली रीचार्जेबल बैटरी: 

एक वक्त था जब इलेक्ट्रिक कारें बहुत चलती थीं. 1890 के दशक में एडिसन मौजूदा रीचार्जेबल बैटरियों को हल्का और अच्छा बनाने में लगे थे. 1901 में एडिसन ने निकल-आयरन बैटरी का पेटेंट कराया और एडिसन स्टोरेज बैटरी कंपनी खोली जो इलेक्ट्रिक कारों के लिए बैटरी बनाती थी.

लेकिन पेट्रोल इंजन के आने और पेट्रोल के सस्ते होने के चलते इलेक्ट्रिक कारें धीरे-धीरे गायब हो गईं.  

Source: rutgers

 इन सारे अविष्कारों से एडिसन ने विज्ञान की दुनिया में बहुत ज़्यादा योगदान दिया और पूरी दुनिया के लोगों का जीवन आसान किया.