दीवाली के समय लक्ष्मी पूजा का बड़ा महत्व है. लोगों की कामना होती है कि मां लक्ष्मी उनके घर पधारें. पिछले कुछ समय से भारत की अर्थव्यवस्था धीमी पड़ी हुई है, लक्ष्मी जी के लिए एक्स्ट्रा प्यार भी उमड़ रहा है. 

सुस्ती के बावजूद कुछ लोग या घर ऐसे हैं, जहां धन की देवी कम्फ़र्ट ज़ोन में रहीं. वो वहां से गई ही नहीं, तो इस दीवाली उनको बुलाने का भी सवाल नहीं बनता, हां! पूजा के माध्यम से ये सुनिश्चित करना चाहेंगे कि वो कहीं और जाएं न. 

1. अक्षय कुमार

Source: Samachar 360

साल में चार फ़िल्में रिलीज़ होती हैं. भारी भरकम फ़ीस वसूलते हैं, विज्ञापन और शो का अलग बिल बनता है. फ़ोर्ब्स मैग्ज़ीन की लिस्ट के हिसाब से ये दुनिया के चौथे सबसे कमाउ सितारे हैं. इनका 'श्री यंत्र' सबसे बढ़िया काम कर रहा है. 

2. मुकेश अंबानी

Source: Forbes

जियो दन दना दन नहीं, जियो धन धना धन... पिछले 12 साल से भारत के सबसे अमीर व्यक्ति बने हुए हैं मुकेश अंबानी. बीच-बीच में एशिया के सबसे अमिर व्यक्ति भी बन जाते हैं. कुबेर से इनकी अच्छी दोस्ती हो गई है. जियो लॉन्च करने के बाद से टेलीकॉम इंडस्ट्री के दूसरे खिलाड़ियों को उखाड़ ही फेक दिया है इन्होंने. 

3. जय शाह

Source: Amar Ujala

वाजिब कारणों से भीतर की बात नहीं करूंगा. बस इतना जानिए कि कुछ ही सालों के भीतर ये जिस कंपनी के मालिक हुआ करते हैं, वो कंपनी घाटे से हज़ार गुना मुनाफ़े में चली गई. क्रिकेट से कोई वास्ता न होते हुए भी जय शाह BCCI के सचिव बन गए. ये कैसे हुआ, इसके बारे में कुछ नहीं पता, लेकिन आपको तो पता होगा! 

4. आयुष्मान खुराना

Source: Huffpost India

धीरे-धीरे तरक्की की सीढ़ियां चढ़ी है लेकिन अंधाधुंध के हिट होने के बाद आयुष्मान ने अंधा पैसा कमाया है. बढ़िया से बढ़िया और अलग से अलग कहानी चुन कर फ़िल्म बनाते हैं और हिट का टैग ले जाते हैं. पता चला है कि विज्ञापन के लिए आयुष्मान 3 करोड़ चार्ज करना शुरू कर चुके हैं. 

5. पीवी सिंधु

Source: Twitter

सालों से उम्मीद थी कि इस साल पीवी सिंधु वर्ल्ड चैंपियनशिप जीत जाएगी और इस साल सिंधु जीत ही गईं. भारत की अकेली बैडमिंटन खिलाड़ी जिसने वर्ल्ड चैंपियनशिप जीता है. इस साल सिंधु ने प्रायोजकों से भी अच्छे करार किए हैं, उन्होंने कुल 7.2 मिलियन डॉलर स्पॉन्सर से कमाए हैं. 

6. ऋतिक रोशन 

Source: Telegraph India

क़ानून मंत्री रविशंकर प्रसाद बता रहे थे कि भारत में फ़िल्में कमा रही हैं इसका मतलब अर्थव्यवस्था बढ़िया चल रही है. इसके हिसाब से ऋतिक रोशन के ऊपर इस साल बड़ी ज़िम्मेदारी थी. उनकी दोनों फ़िल्में सुपर हिट रहीं और एक तो इस साल की सबसे कामयाब फ़िल्म बन चुकी हैं. रितिक रोशन ने अक्षय कुमार की तरह दो और फ़िल्में निकाल दिए होते तो हम इसी साल चीन को टक्कर दे जाते. 

7. भाजपा कार्यालय

Source: The Hindu

कुछ सालों के भीतर दिल्ली के बीचों-बीच हाइटेक मुख्यालय बन कर खड़ा हो गया. आंकड़ों के अनुसार जितना चंदा राष्ट्रीय राजनैतिक पार्टियों का मिलता है उसका 90 प्रतिशत से भी ज़्यादा बड़ा हिस्सा भाजपा के खाते में जाता है. 2017-18 में भाजपा को कुल 10.3 बिलियन रुपये रुपये चंदे में मिले.