कई बार हम आज का, इस पल का लिहाज़ नहीं करते. 'कल करेंगे', 'मैं ही क्यों करूं?', 'कल देखा जाएगा' इन सब चक्कर में फंस कर रह जाते है.


सच्चाई ये है कि किस लम्हे में ज़िन्दगी करवट ले, कोई नहीं जानता. आने वाले दिनों में क्या होगा, कोई नहीं बता सकता. जो मौका हमने आज खो दिया, या टाल दिया, वो कल मिलेगा या नहीं, कह नहीं सकते.

वियतनाम के हो ची मिन शहर के एक शख़्स ने ज़िन्दगी के दिए हुए मौके को नज़रअंदाज़ करने पर एक मार्मिक पोस्ट लिखी है. ये पढ़िए, क्योंकि इस पोस्ट से कहीं न कहीं हम सब ख़ुद को जोड़ कर देख सकते हैं.

'मैं ज़िन्दगी के दिए मौकों को गंवाने पर बात करना चाहता हूं.


पिछले साल नवंबर में मेरी वियतनाम की एक लड़की से बातचीत शुरू हुई. हम म्यूज़िक, फ़िल्में, किताबें और उसके सिडनी में सेटल होने पर बातें करते. वो समझदार, दयालु, मज़ाकिया थी...और काफ़ी ख़ूबसूरत भी.

मुझे जानने वाले ये जानते हैं कि मैं महिलाओं में आसानी से Interest खो देता हूं (सच कहूं तो इंसानों से ही) पर इस लड़की के साथ ऐसा नहीं था, मैं उसे पसंद करने लगा.

इतना कि...मैंने कुछ नहीं किया.

मैंने अपनी Feelings को नज़रअंदाज़ किया. शायद इसीलिए क्योंकि कहीं न कहीं मुझे लगता था कि मुझसे मिल कर वो मुझे नापसंद करेगी. उसे असली 'Justin' पसंद नहीं आएगा.

वो काफ़ी Perfect थी और मैं शायद इतना क़िस्मत वाला नहीं था.

हम वक़्त-बेवक़्त ऑनलाइन चैटिंग किया करते पर असली प्लैन्स कभी नहीं बने.

21 जनवरी को मैंने हिम्मत करके पूछा कि क्या वो मिलना चाहती है. वो मान गई और 2 दिन बाद हम कॉफ़ी पर मिले. मैं 15 मिनट देरी से पहुंचा और वो आराम से, शांति से बैठकर बियर पी रही थी. दोपहर के 3 बजे. मुझे ये Funny और काफ़ी अच्छा लगा. हम दोनों मिलने को लेकर काफ़ी Excited थे. हमने घंटों बातें की, हां ज़रा घबराहट के साथ.

पूरे टाइम मैंने Sunglasses पहने थे. रौशनी से बचने के लिए नहीं, अपने एहसासों को छिपाने के लिए. उसने मुझसे कहा कि उसे मेरी आंखें देखनी है, मैंने कहा 'बाद में'.

कुछ दिनों बाद कुछ Shows के लिए मैं चीन गया. जब मैं वापस आया, तो वो में Tet Holiday के लिए जा रही थी. फिर वो आई और मैं चला गया. फिर वो चली गई, वगैरह-वगैरह.

हम एक-दूसरे से मिल नहीं रहे थे पर हम एक दूसरे की Instagram Stories, Facebook Stories देख रहे थे. मैं हमेशा चेक करता था कि मेरी Stories कौन देख रहा है और वो देखती थी.

फिर एक दिन उसने मेरी Stories देखना बंद कर दिया.

मैं उसे Facebook और WhatsApp पर Message भेजे, पर उसने जवाब नहीं दिया. मैंने उसे फ़ोन किया, उसने नहीं उठाया. मुझे लगा कि शायद उसे कोई मिल गया है और उसे अब मुझ में दिलचस्पी नहीं है. मुझे ये सोचकर बुरा लगा.

हफ़्तों उसकी कोई ख़बर न मिलने पर मैंने निर्णय लिया कि कैसे भी उससे संपर्क करूंगा और उसे बताऊंगा कि मैं क्या महसूस करता हूं. कोई बेवकूफ़ी नहीं करूंगा.

बदक़िस्मती से वो मौका नहीं मिला, कल पता चला कि 3 हफ़्ते पहले मोटरबाइक दुर्घटना में उसकी मौत हो गई है.

पता नहीं क्यों मुझे लगता है कि अगर मैंने उसे अपनी Feelings बताई होती. तो ये सब नहीं होता.

अगर आप किसी के बारे में कुछ महसूस करते हैं, तो उन्हें अभी बताइए. क्योंकि कल क्यो हो, किसी को नहीं पता.

RIP Thanh Vu'

Justin के पोस्ट को अब तक 20 हज़ार से ज़्यादा बार शेयर किया जा चुका है. हम सबको ज़िन्दगी कई मौके देती है, चाहे वो करियर से जुड़े हों या मोहब्बत से. हम वक़्त रहते पहचान नहीं पाते या फिर नज़रअंदाज़ कर देते हैं.


याद रखिए जो अभी है, वो अभी है. कल क्या होगा, कोई भी नहीं जानता.

नोट: जिस शख़्स ने ये पोस्ट लिखी थी उसने बाद में ये पोस्ट हटा ली है. इसीलिए फ़ेसबुक पोस्ट आपको दिखाई नहीं देगा.