कर्नाटक के बिज़नेसमैन श्रीनिवास गुप्ता ने अपनी पत्नी की याद में कुछ ऐसा किया जिसे जानकर आप भी उन्हें 21वीं सदी का शाहजहां कहने लगेंगे. मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक हर कोई श्रीनिवास के इस क़दम की सराहना कर रहा है.

दरअसल, कर्नाटक के कोप्पल निवासी बिज़नेसमैन श्रीनिवास गुप्ता ने 3 साल पहले एक कार एक्सीडेंट में अपनी पत्नी माधवी को खो दिया था. श्रीनिवास पत्नी से बेहद प्यार करते थे, समय बीतता गया, लेकिन श्रीनिवास पत्नी को भुला न सके. हाल ही में कोप्पल में बनाए अपने नए बंगले में गृहप्रवेश के दौरान उन्होंने पत्नी की याद में घर के आंगन में उनकी एक बड़ी मूर्ति भी लगवाई है.

श्रीनिवास गुप्ता ने सिलिकॉन वैक्स से बनी माधवी की इस मूर्ति को जाने-माने आर्किटेक्ट Ranghannanavar की मदद से बनवाया है. घर के आंगन में रखी इस प्रतिमा को देख हर कोई धोखा खा जायेगा. पहली नज़र में ये रियल सी दिखती है. इस प्रतिमा में माधवी मैजेंटा कलर की साड़ी के अलावा सोने के गहने पहनी नज़र आ रही हैं. माधवी की मूर्ति को सोफ़े पर स्थापित किया गया है.

इस दौरान बिज़नेसमैन श्रीनिवास गुप्ता ने कहा कि, हमारा ये नया बंगला माधवी के सपनों का घर था. माधवी को फिर से अपने घर में पाकर बहुत अच्छा लग रहा है, क्योंकि ये उसका ड्रीम होम था. मैं अक्सर उसे बहुत याद करता था. इसलिए चाहता था कि वो इस घर में रहकर अपने सपने को पूरा होते हुए देखे.

ये प्रतिमा क़रीब 1साल में बनकर तैयार हुई है, जिसे बंगलुरू के मशहूर आर्टिस्ट श्रीधर मूर्ति ने तैयार किया है. श्रीधर ने इसके लिए सिलिकॉन वैक्स का उपयोग किया है जो बेहद टिकाऊ है. ये प्रतिमा हूबहू मेरी पत्नी जैसी है, इसे देखकर ऐसा लगता है मानो वो मेरे सामने है और मुस्कुरा रही है.
माधवी के जाने बाद मैं अक्सर सोचता था कि मेरे नए घर में मैं अपनी पत्नी के साथ रहूं. इसके लिए लोगों ने मुझे वैक्स की प्रतिमा बनवाने की सलाह दी. जब मैं इस संबंध में मूर्तिकार श्रीधर से मिला तो उन्होंने कहा कि आपका घर कोप्पल में है और वहां का मौसम काफ़ी गर्म रहता है. ऐसे में वैक्स के पिघलने का ख़तरा बना रहेगा. इसलिए श्रीधर ने मुझे वैक्स की जगह सिलिकॉन वैक्स की प्रतिमा बनाने की सलाह दी.