WHO की एक रिपोर्ट के अनुसार हर 40 सेकेंड में दुनिया में कोई न कोई शख़्स आत्महत्या करता है.


Economic Times की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में हर साल 2.3 लाख से ज़्यादा लोग अपनी जान ले लेते हैं. इतनी आत्महत्याएं होने के बावजूद आज भी कई भारतीय मानसिक स्वास्थ्य, अवसाद, Anxiety को या तो ख़याली पुलाव मानते हैं या फिर अमीरों की बीमारी. हमारे समाज में तो न जाने कितने ऐसे लोग हैं जो अवसादग्रसित हैं और उन्हें इसका पता तक नहीं है.

Source: Bored Panda

सही शिक्षा और जानकारी के अभाव में सालाना कई मासूम ज़िन्दगियां बर्बाद हो जाती हैं. अगर कोई मदद मांग भी रहा हो तो हम कई बार समझ नहीं पाते, जैसा कि एक ट्विटर यूज़र के साथ हुआ. एक ट्विटर यूज़र ने अपने दोस्त के साथ हुई आख़िरी बात-चीत के Screenshots शेयर किए हैं और हमें याद दिलाया है कि अपनों का हर पल ध्यान रखना क्यों ज़रूरी है? इस ट्विटर यूज़र, उसे हम कहेंगे 'फ्रेंड A', के दोस्त Shawn ने आत्महत्या कर ली. ये उससे कुछ देर पहले की बातचीत है.

'बातचीत की शुरुआत में Shawn फ्रेंड A से उसके शाम के Plans पूछता है और बताता है कि वो किसी से बात करना चाहता है. फ्रेंड A ये इशारे समझ नहीं पाती और उसे अपने Presentation के बारे में बताती है, पर बाद में कहती है कि वो उससे मिलने आएगी. पर जब तक वो उसके घर पहुंचती है, Shawn आत्महत्या कर चुका होता है.'

भागती-दौड़ती ज़िन्दगी में अगर कोई दोस्त आपसे बात करना चाह रहा है तो उसे नज़रअंदाज़ न करें. हो सकता है एक छोटी सी बात-चीत किसी की ज़िन्दगी बदल दे या बचा ले.