दुनिया और ज़िन्दगी से बेहद परेशान लोग आपने आस-पास देखे होंगे. क्या कभी आपके भी दिमाग़ में आया ही होगा कि 'मम्मी-पापा ने पैदा ही क्यों किया?'

हम सब के बीच एक ऐसा इंसान भी है जो मम्मी-पापा के पैदा करने से इतना दुखी हो गया कि उन्हीं पर केस करने की ठान चुका है.

The Print के अनुसार Raphael Samuel ने कहा,

'मैं अपने माता-पिता से बेहद प्यार करता हूं और मेरे उनसे काफ़ी अच्छे रिश्ते हैं, लेकिन उन्होंने मुझे अपने स्वार्थ और ख़ुशी के लिए पैदा किया है.'
Raphael का कहना है कि उसकी इजाज़त के बिना उसे पैदा करने के लिए वो अपने माता-पिता पर केस करेगा.

Source: Facebook

Raphael ने आगे बताया,

'मेरी ज़िन्दगी बेहतरीन रही है लेकिन मुझे ये समझ नहीं आता कि मैं एक और ज़िन्दगी को स्कूल, करियर के झमेले में क्यों फंसाऊं? ख़ासकर तब जब उसने ऐसी ज़िन्दगी की कामना ही नहीं की है.'

Raphael Anti-Natalism के समर्थक हैं. इस Philosophy को मानने वाले जन्म के ही खिलाफ़ होते हैं. ये लोग मानते हैं कि बच्चे पैदा करने का मतलब होता है किसी की इच्छा के विरुद्ध उस पर ज़िन्दगी थोपना. Raphael का ये भी कहना था, 'लोगों को ये पता होना चाहिए कि उनके पास बच्चे पैदा न करने का और अपने माता-पिता से उन्हें पैदा करने का कारण पूछने का अधिकार होना चाहिए.'


Source: Facebook

एक आंदोलन भी है जो लोगों को बच्चों के बग़ैर जीने के लिए प्रेरित करता है. नाम है, 'Voluntary Human Extinction Movement' (VHEM). इस संस्था की लीडर, प्रतिमा निक का कहना है,

'हम अपने विचार किसी पर थोपना नहीं चाहते. लोगों को ये समझना होगा कि इस समय में बच्चे न पैदा करना क्यों ज़रूरी है.'

बच्चे पैदा करने के सामाजिक दबाव और प्राकृतिक संसाधनों के दुष्प्रयोग को रोकने के अलावा प्रतिमा ने इस आंदोलन से जुड़ने की एक और वजह बताई,

'कई बच्चे ऐसे हैं जिन्हें माता-पिता और घर की ज़रूरत है.'

Source: You Tube

Raphael का फ़ेसबुक पेज भी है, जिसे 400 से ज़्यादा लोगों ने लाइक किया है.

इस आंदोलन से जुड़े आलोक कुमार का You Tube चैनल भी है जिस पर वो इस आंदोलन से जुड़े वीडियोज़ डालते हैं.