किसी भी महल या फिर किले में आपने बड़े-बड़े हमाम (स्नानघर) देखे होंगे. ये हमाम राजघराने के लोगों के लिए स्पेशली बनाए जाते थे. लेकिन रोम में आम लोगों के लिए भी हमाम का निर्माण हुआ है. ऐसे ही एक हमाम के बारे में आज हम आपको बताएंगे. ये हमाम 2000 साल पुराना है और आज भी काम कर रहा है.

इस ऐतिहासिक हमाम का नाम है Hammam Essalihine. ये अल्जीरिया की ऐतिहासिक विरासत के रूप में आज भी संरक्षित है. अपने हेल्थ बेनिफ़िट्स के लिए ये हमाम पूरी दुनिया में मशहूर है. इस हमाम में नहाने हर साल करीब 7 लाख सैलानी देश-विदेश से आते हैं.

Hammam Essalihine का पानी बिलकुल शुद्ध है और अलग-अलग प्रकार के मिनरल्स से युक्त है. इसका तापमान करीब 70°C रहता है. कहते हैं कि इस पानी में नहाने से हड्डियों, त्वचा और सांस से संबंधित बीमारियां बहुत जल्द ठीक हो जाती हैं.

इस हमाम के पास आस-पास आपको बहुत से लोग मिल जाएंगे. ये आपको अलग-अलग तरह की मालिश, शरीर को रिलैक्स करने के ट्रीटमेंट आदि ऑफ़र करते हैं.

Hammam Essalihine को दो भागों में बांटा गया है. एक Rectangular Pool, जो परुषों के लिए है और दूसरा है Circular Pool, जो महिलाओं के लिए है. रोमन सभ्यता में सार्वजनिक स्नानघरों की बहुत अहमियत थी, क्योंकि लोग एक साथ नहाते समय अपनी पर्सनल, सामाजिक और राजनैतिक परेशानियों पर बात कर लेते थे.

आजकल के स्पा सेंटर्स को आप रोमन सभ्यता के हमाम का बदला स्वरूप भी कह सकते हैं. दोनों ही जगह पर लोग शारीरिक और मानसिक तनाव को दूर करने और शरीर को रिलैक्स करने के लिए जाते हैं. शायद रोमन्स को शुरू से ही पता था कि मिनिरल्स से युक्त पानी शरीर के लिए कितना लाभदायक है.


है कि नहीं?