जब प्यार किया, तो डरना क्या, प्यार किया कोई चोरी नहीं की छुप-छुप आहें भरना क्या...

जी हां, जब प्यार हो जाता है, तो इंसान ऐसा ही हो जाता है. ये एक ऐसा एहसास है, जो कब दिल में जगह बना लेता है, पता ही नहीं चलता. अचानक आपके बगल में बैठा एक शख़्स आपके लिए पूरी दुनिया में सबसे ज़्यादा अज़ीज़ हो जाता है. उसके सिवा कुछ नज़र नहीं आता है. उस वक़्त पूरी दुनिया की ख़ुशी मिल जाती है जब वो एक बार हंसकर देख ले और अगर कुछ बोल दे तो समझो जन्नत मिल गई.

Source: healthrecruitlink

ऐसी ही फ़्लाइट वाली छोटी और प्यारी-सी लव स्टोरी आज हम आपके लिए लाए हैं, इस स्टोरी को इसी एयरपोर्ट में काम करने वाले एक कर्मचारी ने अपने Twitter पर साझा किया है, जिसका नाम Donya है.

कहानी शुरू होती है टिकट काउंटर से जिसपर Donya काम कर रहा था, तभी एक 70 साल की महिला परेशान सी काउंटर पर आई और मदद की गुहार करने लगी. वो मदद अपने प्यार के लिए मांग रही थी, जो उसे कनाडा की फ़्लाइट में मिला था. उसने Donya को बताया, वो एक यात्री को ढूंढ रही है, जिसके साथ वो सेम फ़्लाइट में थी, लेकिन कनेक्टिंग फ़्लाइट की वजह से दोनों अलग-अलग हो गई हैं. Donya ने अपनी ड्यूटी ईमानदारी से करते हुए एक पैसेंजर को दूसरे पैसेंजर की इंफ़ॉर्मेशन देने से मना कर दिया. लेकिन महिला के परेशान चेहरे को देखकर Donya ने उसका नम्बर ले लिया और बता दिया कि अगर कोई और पूछने आएगा तो वो इ़फ़ॉर्म कर देगा.

Source: rd

शायद प्यार के साथ भगवान भी होते है. इसलिए जब वो महिला वहां से गई तो कुछ ही देर बाद एक और महिला आई उसने भी एक महिला को ढूंढने के लिए Donya ने मदद मांगी, तब Donya ने तुरंत उसे नम्बर दिया और दोनों एक-दूसरे से मिल गईं.

इस स्टोरी को अपने Twiter के ज़रिए सबसे साझा भी किया. Donya की इस स्टोरी पर कई लोगों ने अपनी प्रक्रियाएं दी है, जिन्हें आप नीचे पढ़ सकते हैं

इस वक़्त फ़िल्म का एक डायलॉग याद आ रहा है,

'किसी चीज़ को शिद्दत से चाहो, तो पूरी कॉयनात उसे तुमसे मिलाने में लग जाती है.'