एक साधारण व्यक्ति द्वारा लिखे फ़ेसबुक पोस्ट को 6 घंटे के भीतर 18000 रिएक्शन, 2100 कमेंट्स, और 1800 बार शेयर किया गया. आखिर ऐसा क्या ख़ास लिखा था उसमें?  

Source: Gokul Sreedar

एक बेटे ने अपनी मां के लिए फ़ेसबुक पर शादी की सालगिरह की शुभकामनाएं दी थीं, बहुत लोग करते हैं. यहां बस अंतर ये था कि यहां उसकी मां की दूसरी शादी थी.  

इस समाज में जहां महिलाओं का तलाक देना और दूसरी शादी करना एक कुरीति समझी जाती है, वहां एक बेटा अपनी मां को उसकी दूसरी शादी की सालगिराह की बधाई दे रहा है. ये बड़ी बात है.  

केरल के Kollam ज़िले में रहने वाले Gokul Sreedhar, जो कि CPM का छात्र विंग SFI का सदस्य हैं. उसने अपनी मां के लिए जो शुभकामना संदेश लिखा, उसे अकसर लोग छिपाने की कोशिश करते हैं.  

Gokul ने अपनी मां को अपने पिता के साथ अत्याचारपूर्ण रिश्ते से निकलकर दूसरी शादी करने की शुभकामनाएं दी, उसने ये पोस्ट मलयालम में लिखा था.  

ये मेरी मां की शादी थी, मैंने ये नोट लिखने के बारे में काफ़ी सोचा. आख़िरकार, आज भी लोग दूसरी शादी को मान्यता नहीं देते. उन्हें घृणा, गुस्सा, बेचारगी की निगाह से देखा जाता है. 

                    - Gokul Sreedhar

Gokul ने अपने पोस्ट में लिखा, 'वो औरत जिसने मेरे लिए अपनी ज़िंदगी किनारे कर दी. अपनी विफ़ल शादी में उसने बहुत कुछ सहा था. पिटने के बाद जब उसके सिर से खून निकलता था, तो मैं अक्सर पूछता था कि वो क्यों सहती है. उसका मुझे ये कहना याद है कि वो मेरे लिए ये सब कुछ सहती है और मेरे लिए ही ज़िंदा है. जिस दिन मैंने उसके साथ घर छोड़ा था, मैंने इस पल के बारे में निश्चय कर लिया था. मेरी मां, जिसने मेरी ख़ातिर अपनी पूरी जवानी कुर्बान कर दी... मुझे और कुछ नहीं कहना. मुझे बस इतना लगा कि ये कुछ ऐसा है जिसे छुपा कर नहीं रखा जाना चाहिए.'  

6 घंटे के भीतर फ़ेसबुक पर जिस तरह की प्रतिक्रिया इस पोस्ट को मिली, इससे साबित होता है कि आस-पास ऐसे बहुत से लोग हैं, जिनकी कहानी Gokul से मिलती है.