सर्दियां... किसी के लिए वरदान हैं तो किसी के लिए सबसे बड़ा अभिशाप.


पसंद हो या नापसंद पर अगर ठंडी हवा का झौंका शरीर को छू लेता है तो दांत कंपकंपा जाते हैं. मतलब बड़े से बड़े तीस मार खां के भी.

Source: Gifer

ऐसा क्यों होता है?

इसका सीधा सा जवाब है हमारे Face Muscles गर्माहट के लिए हिलने लगते हैं और इस वजह से दांत कटकटाते हैं. ये एक इनवॉलन्ट्री एक्शन है और आपका इस पर कोई ज़ोर नहीं चलेगा. मतलब चाहकर भी नहीं रोक पाओगे.


ये आपके शरीर का आपको बताने का तरीका है कि ठंड लग रही है हीरो न बनकर कोई उपाय करो! कई बार बहुत ज़्यादा ठंड लगने पर पूरा शरीर कांपने लगता है.

शीतरक्ती जानवर यानी Cold Blooded जानवर जैसे कीड़े, रेपटाइल, मछिलयां आदि के साथ ये समस्या नहीं होती. कारण? उनका शरीर तापमान के अनुसार ढल जाता है. जब बाहर गर्मी होती है तब उनका शरीर भी गर्म हो जाता है, जब बाहर ठंड होती है तब उनके शरीर का तापमान भी ठंडा हो जाता है.


वहीं गर्मरक्ती जानवर यानी Warm Blooded जानवर जैसे कि पक्षी, इंसान आदि में तापमान के अनुसार ढलने की ख़ूबी कम होती है. बाकी Mammals के मुक़ाबले हम इंसानों का शरीर बाहरी तापमान के अनुसार ढल नहीं पाता. इसलिये तो हम गर्म कपड़ों के इतने लेयर पहनते हैं!