भारत, हिन्दुस्तान, भारतवर्ष और इंडिया इन सभी नामों से हमारे देश की पहचान है. कई लोगों को तो यही लगता है कि भारत को अंग्रेज़ी में 'इंडिया' कहा जाता है, लेकिन सिर्फ़ इतना ही नहीं है. क्या आपने कभी ये जानने की कोशिश की कि भारत को 'इंडिया' क्यों कहा जाता है? 

Source: quora

नहीं मालूम! तो चलिए हम बताते हैं? 

भारत को 'इंडिया' क्यों कहा जाता है इसके पीछे एक रोचक तथ्य छुपा हुआ है. भारतीय संविधान में भी इस बात का उल्लेख पहले पेज पर किया गया है. संविधान के अनुसार भारत एक संघ है और इसे इन दोनों नामों 'भारत' और 'इंडिया' से पुकारा जाना चाहिए. 

Source: quora

दरअसल, भारत को 'इंडिया' कहे जाने के पीछे प्राचीन 'सिंधु घाटी सभ्यता' और 'सिंधु नदी' आधार रहे हैं. दुनिया की बड़ी नदियों में से एक सिंधु नदी जो पाकिस्तान, चीन और भारत में बहती है. इस नदी को संस्कृत में 'सिंधु' और अंग्रेज़ी में 'इंडस' कहा जाता है. इसी 'इंडस' शब्द से 'इंडिया' शब्द बना है. 

Source: theprint

18वीं सदी में जब ब्रिटिश भारत आए तो उस समय भारत को 'हिंदुस्तान' और 'हिन्द' भी कहा जाता था, लेकिन अंग्रेज़ों को भारत के इन सभी पुराने नामों को बोलने में काफ़ी परेशानी होती थी. जब अंग्रेज़ों को पता चला कि प्राचीन 'सिंधु घाटी सभ्यता' को 'इंडस वैली' और 'सिंधु नदी' को 'इंडस नदी' कहते हैं तो इसके आधार पर अंग्रेज़ों ने भारत को 'इंडिया' नाम दे दिया. 

Source: medium

अंग्रेज़ों को इंडिया शब्द अच्छा लगता था तो उन्होंने भारत को 'इंडिया' कहना शुरू कर दिया. इसके बाद ब्रिटिशकाल में 'इंडिया' नाम काफ़ी प्रसिद्ध हो गया. दुनिया के लगभग सभी देश भारत को 'इंडिया' के नाम से जानने लगे थे इस तरह से भारत का नाम 'इंडिया' पड़ा. 

Source: whoi

'इंडिया' को पूरी मान्यता भारत की आज़ादी के बाद मिली. जब भारत आज़ाद हुआ तो भारत को संविधान ने भी इस नाम को स्वीकार कर लिया था. इसके बाद भारत के लोग भारत को 'इंडिया' और ख़ुद को 'इंडियन' कहने लगे थे. 

एक अन्य मत के अनुसार जब अलेक्जैंडर (सिकन्दर) भारत आया था तो उसने अंग्रेज़ी में 'HINDU' का 'H' हटाकर देश को 'INDU' नाम से बुलवाना शुरू कर दिया, जो बाद में इंडिया बन गया. वैसे संविधान में आज भी हमारे देश का नाम 'भारतवर्ष' ही है. 

Source: scroll

पौराणिक कथाओं और इतिहास की मानें तो कई ऐसी वजहें हैं, जिनके कारण हमारे देश का तीन बार नामकरण हुआ है, पर सच्चाई सिर्फ़ इतनी है कि हमारे देश के तीन नाम हैं. भारत, हिन्दुस्तान और इंडिया 



इसलिए हम गर्व से कहते है और कहते रहेंगे कि...मेरा भारत महान...