18 फरवरी 2019 को आसंकवादियों के साथ मुठभेड़ में मेजर विभूति शंकर ढौंढियाल शहीद हो गए. इस मुठभेड़ में देश के जवानों ने पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड को मार गिराया. देश ने 4 जवानों को भी खोया, इन्हीं में से एक थे शहीज मेजर विभूति शंकर ढौंढियाल.


मेजर ढौंढियाल के पार्थिव शरीर को सोमवार शाम उनके आवास लाया गया जहां उनके परिवार वालों और आम लोगों ने श्रद्धांजलि दी.

Source: News 18

शहीद मेजर ढौंढियाल की 10 महीने पहली ही शादी हुई थी. उनकी पत्नी नितिका कौल ने आखिरी सम्मान देते हुए बहादुरी दिखाई. शहीद मेजर के पास बैठकर वो एकटक उनको देख रही थीं.

Source: NDTV

ये दृश्य काफ़ी भावुक था. नितिका ने उन्हें आखरी विदाई देते हुए कहा:

आपने मुझ से झूठ बोला कि आप मुझ से प्यार करते हैं... आप इस देश से मुझसे कहीं ज़्यादा प्यार करते हैं और मुझे इस बात की जलन भी हो रही है...हम सब आपसे प्यार करते हैं पर आप जो प्यार हम सबसे करते हैं, वो बहुत अलग है. आपने अपनी ज़िन्दगी ऐसे लोगों के लिए क़ुर्बान कर दी जिनसे आप कभी मिले भी नहीं. आप बहुत बहादुर हो. मुझे गर्व है कि आप मेरे पति हैं. मैं अपने आख़िरी सांस तक आपसे प्यार करूंगी, विभू. आपने मुझे काफ़ी सारी चीज़ें सिखाई. मेरी ये ज़िन्दगी आप ही के वजह से है. मुझे दुख हो रहा है कि आप जा रहे हो पर मुझे पता है कि आप हमेशा आस-पास रहोगे.

- नितिका कौल

आस-पास के लोगों के लिए नितिका ने ये कहा,

मेरा सबसे निवेदन है कि सहानुभूति दिखाने के बजाए मज़बूत बनें. ये इंसान हम सब से कही ज़्यादा ऊपर है. हमें इस इंसान को सैल्यूट करना चाहिए. जय हिन्द...

- नितिका कौल

Source: News 18

मेजर विभूति शंकर ढौंढियाल अप्रैल में अपनी शादी की पहली सालगिरह के लिए घर जाने वाले थे. मेजर के पार्थिव शरीर के आस-पास हज़ारों लोग खड़े थे और 'भारत माता की जय' और 'वन्दे मातरम्' के नारे लगा रहे थे.


शहीद मेजर ढौंढियाल का अंतिम संस्कार, Military Honour के साथ हरिद्वार में किया गया.