कोविड-19 की वजह से इस साल दुनिया में कहीं भी प्राइड परेड नहीं हो पाई. जून को दुनियाभर में बतौर प्राइड मंथ सेलिब्रेट किया जाता है.

परेड नहीं हो रही है, फिर भी आप LGBTQ+ समुदाय को अपना समर्थन दे सकते हैं.  

कुछ संस्थान जो भारत के LGBTQ+ समुदाय के लिए काम कर रहे हैं- 

1. Nazariya 

2014 में Nazariya की स्थापना की गई, नज़रिया एक क्वीर फ़ेमिनिस्ट सपोर्ट ग्रुप है. ये संस्था लेस्बियन, बाइसेक्शुअल महिलाएं और ऐसे ट्रांस लोगों के साथ काम करती हैं जिन्हें जन्म के बाद फ़ीमेल घोषित कर दिया गया.

Nazariya के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए इस लिंक पर जायें. 
Nazariya को डोनेट करने के लिए इस लिंक पर जायें.  

2. The Bi-Collective 

यह संस्था दिल्ली और आस-पास के इलाक़ों के बाइसेक्शुअल, बाइ+, बाइ-क्युरिअस और पैनसेक्शुअल लोगों के लिए काम करती है. इस संस्था का मक़सद है इस समुदाय के लोगों के लिए एक सेफ़ प्लेस बनाना, जहां वो अपने आप को खुलकर एक्स्प्रेस कर सकें.

The Bi-Collective की वेबसाइट पर जाने के लिए क्लिक करें.
डोनेशन के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए आप The Bi-Collective के Twitter और Facebook पेज पर जा सकते हैं.

3. Naz Foundation 

नाज़ LGBTQ+ समुदाय और HIV/AIDS से जुड़ी भ्रांतियों पर काम करती है. लोगों को जागरूक करने के लिए ये सेशन्स ऑर्गनाइज़ करते है. नाज़ ने सेक्शन 377 के ख़िलाफ़ पेटिशन दायर किया था.

Naz Foundation को आप Facebook और Twitter पर फ़ॉलो कर सकते हैं.
Naz Foundation की वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें.

4. Humsafar Trust 

इस ट्रस्ट के मुताबिक़, 'Your Identity Is A Reason For Pride, Not A Reason To Hide'. ये संस्था 1994 से लेजिस्लेटर्स, नेता, मीडिया को क्वीर समुदाय के प्रति जागरूक करने के लिए वर्कशॉप करवाती है.

इसके अलावा, ये कई सपोर्ट ग्रुप चलाते हैं- युवा LGBTQ लोगों के लिए 'Yaariyan', LBT लोगों के लिए 'Umang' और HIV के साथ जी रहे लोगों के लिए 'Sanjeevani'
Humsafar Trust को आप Facebook और Twitter पर फ़ॉलो कर सकते हैं.
Humsafar Trust की वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें. 

5. Sappho for Equality 

Source: Sappho for Equality

2003 में स्थापित ये संस्था, कोलकाता से भारत के क्वीर समाज और नॉन-क्वीर समाज के बीच की खाई को कम करने की कोशिश कर रही है.

ये संस्था इस मुद्दे पर लोगों को जागरूक करने के लिए फ़िल्म फ़ेस्टिवल, डिस्कशन का आयोजन करती है.
Sappho for Equality के वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें.

6. Sangama 

Source: Sangma.org

बेंगलुरू स्थित इस संस्था ने सेक्शुअल माइनॉरिटी राइट्स, आर्टिकल 377, सेक्स वर्कर राइट्स के लिए कई कैंपेन चलाए हैं.

Sangama की वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें.
Sangama को डोनेट करने के लिए यहां क्लिक करें.  

7. Goodasyou 

Source: Good As You

बेंगुलुरू स्थित ये संस्था क्वीर समुदाय का समर्थन करने वाली सबसे पुरानी संस्थाओं में से एक है.

ये संस्था LGBTQAI समुदाय के लिए कई एक्टिवीज़ का आयोजन करती हैं, लीगल हेल्प करती है और काउंसिलिंग भी करती है. 
Goodasyou को आप Facebook पर फ़ॉलो कर सकते हैं.