सभ्तया, संस्कृति, धार्मिकता और पौराणिकता ये भारत की पहचान है. ये वो देश है जहां मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारों की कमी नहीं है. जब हम इनकी बात करते हैं, तो शांति और सुकून का अनुभव होने लगता है. इस देश के हर शहर की हर गली में आपको मंदिर मिल जाएगा. वहीं रीति-रिवाज़ और परंपराओं से सजे भारत में बहुत सारे गुरुद्वारे हैं, जहां आपको ज़रूर जाना चाहिए.

Indian Culture
Source: rishabhdbhivgade

ये रहे वो गुरुद्वारे:

1. फ़तेहगढ़ साहिब

Gurudwara FATEHGARH SAHIB
Source: 500px

पंजाब के फ़तेहगढ़ ज़िले में स्थित फ़तेहगढ़ साहिब साहिबज़ादा फ़तेह सिंह और साहिबज़ादा जोरावर सिंह की शहादत में बनाया गया था. इनको 1704 में फ़ौज़दार वज़ीर ख़ान दीवार में जिंदा चुनवा दिया था. इस गुरुद्वारे को सफ़ेद पत्थर से बनवाया गया है. इसमें एक सोने का गुंबद भी है.

2. गुरुद्वारा बंगला साहिब

Gurudwara Bangla Sahib
Source: hotels

दिल्ली में स्थित गुरुद्वारा बंगला साहिब को पहले जयसिंहपुरा पैलेस के नाम से जाना जाता था. जो बाद में बंगला साहिब के नाम से मशहूर हुआ.

3. हरिमन्दिर साहिब

develop spiritual knowledge and wisdom
Source: wikipedia

हरिमन्दिर साहिब गुरुद्वारा भारत के सबसे प्रसिद्ध गुरुद्वारों में से एक है. पंजाब के अमृतसर में स्थित इस गुरुद्वारे को ‘दरबार साहिब’ या ‘गोल्डन टेंपल’ भी कहा जाता है. इसकी नींव सिखों के पांचवें गुरु अर्जन देव जी ने रखवाई थी.

4. शीश गंज गुरुद्वारा

Gurudwara Sis Ganj Sahib is situated in Chandni Chowk
Source: holidayiq

दिल्ली का सबसे पुराना और ऐतिहासिक गुरुद्वारा गुरु तेग बहादुर और उनके अनुयायियों को समर्पित है. कहा जाता है कि जब गुरू तेग बहादुर ने मुगल बादशाह औरंगज़ेब के इस्‍लाम धर्म को अपनाने से मना कर दिया, तो उन्हें यहीं पर मौत की सज़ा सुनाई गई थी. ये गुरुद्वारा 1930 में बनाया गया था.

5. गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब

Shri Hemkunt Sahib
Source: exploreouting

उत्तराखंड के चमोली ज़िला में स्थित हेमकुंट साहिब गुरुद्वारा दसवें सिख गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह को समर्पित है. यहां बर्फ़ की एक झील है, जो सात विशाल पर्वतों से घिरी हुई है.

6. हज़ूर साहिब गुरुद्वारा

Takhat Sachkhand Sri Hazur Abchalnagar Sahib
Source: tripadvisor

नान्देड़ नगर में गोदावरी नदी के किनारे स्थित हजूर साहिब, सिखों के 5 तख़्तों में से एक है. माना जाता है कि इसी स्थान पर 1708 में गुरु गोबिंद सिंह का अंतिम संस्कार किया गया था. इसलिए महाराजा रणजीत सिंह के आदेश के बाद 1832-1837 के बीच गुरुद्वारे का निर्माण किया गया.

7. तख़्त श्री दमदमा साहिब

Takht Sri Damdama Sahib
Source: justdial

गुरुद्वारा श्री दमदमा साहिब सिखों के पांच तख़्तों में से एक है. ये बठिंडा से 28 किमी दूर दक्षिण-पूर्व के तलवंडी सबो गांव में स्थित है. इसे ‘गुरु की काशी’ के रूप में भी जाना जाता है.

8. आनंदपुर साहिब

ANANDPUR SAHIB
Source: flickr

पंजाब के रुपनगर ज़िले में स्थित आनंदपुर साहिब मुख्य गुरुद्वारा और प्रमुख आकर्षण है.

9. पटना साहिब

Patna city to Takht Sri Patna Sahib
Source: tripadvisor

बिहार के पटना स्थित तख़्त पटना साहिब को तख़्त श्री हरमिंदरजी भी कहा जाता है. ये दसवें गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह का जन्मस्थान है.

10. गुरुद्वारा पांवटा साहिब

Gurudwara Paonta Sahib
Source: wikipedia

हिमाचल प्रदेश के सिरमौर ज़िले में स्थित ये गुरुद्वारा दसवें गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह जी को समर्पित है. गुरुद्वारे में श्री दस्तर स्थान मौजूद है जहां माना जाता कि पगड़ी बांधने की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता था.

11. गुरुद्वारा श्री नारायण हरि

Gurudwara Shri Narayan Hari
Source: happyshappy

गुरुद्वारा श्री नारायण हरि कुल्लू ज़िले के मणिकरण गांव में स्थित है. इसे संत नारायण हरि जी की याद बनाया गया था. इस गुरुद्वारे का प्रमुख आकर्षण कृत्रिम गुफ़ा है.

12. हज़ूर साहिब

Source: hemkundsahibtour

तख़्त सचखंड श्री हजूर अबचलनगर साहिब महाराष्ट्र के नांदेड़ में स्थित है और सिखों के पांच तख़्तों में से एक है.

13. गुरुद्वारा मजनू का टीला

Yamuna is an oasis of peace and serenity
Source: hindustantimes

महाराजा रणजीत सिंह ने इस गुरूद्वारे को बनवाया था. ये दिल्ली की यमुना नदी के किनारे पर स्थित है. इसे सफ़ेद संगमरमर से बनाया गया है.

14. गुरुद्वारा श्री केशगढ़ साहिब

Gurdwara Sri Keshgarh Sahib
Source: templeadvisor

गुरुद्वारा श्री केशगढ़ साहिब, पंजाब के आनंदपुर शहर में स्थित है. इस शहर को सिखों के 9वें गुरू तेग बहादुर जी ने स्थापित किया था.

15. गुरुद्वारा गुरु गोबिंद सिंह

Guru Gobind Singh Ji's Historical Place
Source: tripadvisor

हिमाचल प्रदेश के मंडी में स्थित गुरुद्वारे का नाम गुरुद्वारा गुरु गोबिंद सिंह जी है. इस गुरुद्वारे काफ़ी मान्यता है.

16. गुरुद्वारा बेर साहिब

Gurdwara Sri Ber Sahib History Gurdwara Sri Ber Sahib By admin - September 12, 20178906	1
Source: sultanpurlodhi

पंजाब के करतारपुर में स्थित इस गुरुद्वारे का नाम एक बेर के पेड़ के नाम पर रखा गया है. ऐसा माना जाता है कि एक बेर के पेड़ को, पहले गुरू, गुरू नानक जी के सामने बोया गया था.

17. गुरुद्वारा मणिकरण साहिब

Manikaran Gurudwara in Manali
Source: makemytrip

ये गुरुद्वारा मनाली के पहाड़ों के बीच स्थित है. ऐसा कहा जाता है कि ये पहली जगह है, जहां गुरू नानक देव जी ने अपनी यात्रा के दौरान ध्यान लगाया था.

18. गुरुद्वारा सेहरा साहिब

Gurdwara Sehra Sahib, Basantgarh
Source: worldgurudwaras

पंजाब स्थित इस गुरुद्वारे के बारे में कहा जाता है कि गुरु हर गोविंद सिंह जी की बारात यहां से गुज़री थी और इस शहर में ही उनकी सेहरा बंधी की रस्‍म की गई थी. इसके बाद ही ये गुरुद्वारा बनाया गया है.

19. गुरुद्वारा श्री नानक झिर साहिब

Guru Nanak Jhira Sahib
Source: wikipedia

कर्नाटक राज्य के बीदर में स्थित ये गुरुद्वारा ऐतिहासिक जगह है. यहां रोज़ क़रीब 4 से 5 लाख श्रद्धालु आते हैं.

20. गुरुद्वारा मटन साहिब

Gurudwara Sri Mattan Sahib
Source: worldgurudwaras

श्रीनगर से 62 किलोमीटर की दूरी पर स्थित इस जगह श्री गुरुनानक देव जी 30 दि‍न के लिए ठहरे थे. इसके बाद इस गुरुद्वारा का निर्माण किया गया.

सुकून के पल मिलेंगे इस जगह. Lifestyle से जुड़े और भी आर्टिकल ScoopwhoopHindi पर पढ़ें.