हर कोई ग़लती करता है पर कुछ ग़लतियां ऐसी होती हैं जिन्हें बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. ये तब और नाकाबिले बर्दाश्त हो जाती है जब किसी चीज़ या इमारत पर अरबों रुपये ख़र्च कर उसे बनाया गया हो. अतीत में हमारे इंजीनियर्स और डिज़ाइनर्स ऐसी ग़लती कर चुके हैं.


चलिए आज जानते हैं कंस्ट्रक्शन और इंजीनियरिंग(निर्माण कार्य) की ऐसी ही ग़लतियों के बारे में जो दुनिया की सबसे महंगी साबित हुईं. इनको सुधारने में भी अरबों रुपये ख़र्च करने पड़े थे. 

ये भी पढ़ें: बिल्डिंग के Construction के समय उसको हरे रंग के कपड़े से ढका जाता है, जानना चाहते हो क्यों?

1. Walkie-Talkie 

लंदन में एक गगनचुंबी इमारत है जिसका नाम है Walkie-Talkie. इसे फ़ेमस आर्किटेक्ट Rafael Vinoly ने बनाया था. पर उनसे बहुत बड़ी ग़लती हो गई. इसकी तिरछी दीवीरों से होकर सूर्य की किरणें नीचे रिफ़्लेट होने लगीं और नीचे खड़ी कार्स में आग लगने लगी. नीचे तो ऐसे लगता था कि हीटर चालू कर छोड़ दिया गया हो. इसे फ़िक्स करने में 15 मिलियन डॉलर का ख़र्च आया था. 

Walkie Talkie’ building
Source: londonist

2. Sydney Opera House 

सिडनी ओपेरा हाउस अपने अनोखे कंस्ट्रक्शन के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है. लेकिन इसके निर्माण में भी ग़लती हुई थी. कुछ म्यूज़िशियन्स ने शिकायत की थी कि वो अपने साथी के वाद्य यंत्र की आवाज़ नहीं सुन पार रहे हैं. इसे ठीक करने में 233 मिलियन डॉलर्स का ख़र्चा आया.

Source: britannica

3. Berlin Brandenburg Airport  

2006 में ये एयरपोर्ट बनना शुरू हुआ था, लेकिन इसे बनते-बनते 2020 आ गया. जून 2020 में इसे चालू कर दिया गया, लेकिन अभी भी ये पूरी तरह नहीं बन पाया है. यहां तक कि इसके बने हुए हिस्से की मेंटेनेंस पर हर साल 144 मिलियन डॉलर ख़र्च करने पड़ रहे हैं. इसे पूरा करने के लिए अभी भी 1.2 बिलियन डॉलर रुपये की दरकार है.

berlin brandenburg airport
Source: dailysabah

4. NASA

नासा ने 1998 में मार्स पर एक सैटेलाइट भेजा था. Lockheed Martin नाम के इंजीनियर ने बनाया था. लेकिन उन्होंने कैलकुलेशन करने में भारी ग़लती कर दी. उन्होंने इस सैटेलाइट के पैमाने में मिट्रिक की जगह इंग्लिश पैमाने(इंच-फ़ीट) का प्रयोग किया. ये सैटेलाइट अंतरिक्ष में जाकर खो गया और इससे नासा को 125 मिलियन डॉलर का नुकसान हुआ था.

1999 NASA lost a $125M Mars orbiter
Source: cornell

5. Jeddah Tower 

सऊदी अरब का Jeddah Tower 2013 में बनना शुरू हुआ था. इसका बजट 1.4 बिलियन डॉलर था. लेकिन इसका निर्माण 2018 तक पूरा नहीं हो सका. इसमें अथाह दौलत भी सऊदी अरब के शासकों ने ख़र्च की. बाद में इसमें भ्रष्टाचार के एंगल का पता चला और जांच होने लगी. फ़िलहाल इसके निर्माण पर रोक लगी है.

jeddah tower
Source: thorntontomasetti

6. Aon Center 

शिकागो की ये बिल्डिंग 1973 में बनना शुरू हुई थी. इसका बजट तब 120 मिलियन डॉलर था. इसमें मार्बल के पैनल लगाए गए थे, लेकिन ये वहां के वातावरण के कारण गिरने लगे. इन्हें ग्रेनाइट के पैनल्स से बदला गया. इस कारण इसे ठीक करने में 68 मिलियन डॉलर और ख़र्च करने पड़े थे.

aon center
Source: architecture

7. Deepwater Horizon Oil Spill 

ये एक औद्योगिक आपदा थी जो 20 अप्रैल 2010 को मैक्सिको की खाड़ी में हुई. इसे पेट्रोलियम उद्योग के इतिहास में सबसे बड़ी समुद्री तेल रिसाव की घटना माना जाता है. इसे BP नाम की कंपनी संचालित कर रही थी. इसने सुरक्षा के पैमानों पर ढील दी जिसका नतीजा ये रहा है कि समुद्र तल से तेल रिसने लगा. इसके लिए कंपनी को 65 बिलियन डॉलर का जुर्माना देना पड़ा था.

Deepwater horizon oil spill
Source: britannica

8. Sagrada Familia 

ये स्पेन के बार्सिलोना में बना एक अधूरा चर्च है जिसका निर्माण 1883 में शुरू हुआ था. लेकिन आग लगने से इसके निर्माण पर रोक लग गई थी. फ़िलहाल इसकी मेंटेनेंस में सरकार को 30 मिलियन डॉलर ख़र्च करने पड़ते हैं.

sagrada familia
Source: archdaily

अब तो आप भी पक्का कहेंगे कि ये इन ग़लतियों को माफ़ नहीं किया जा सकता.