एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla) के निधन से हर कोई स्तब्ध है. महज़ 40 साल की उम्र में उनका दुनिया से चले जाना सभी को खल रहा है. इस वक़्त हर कोई बस यही सोच रहा है कि इतनी कम उम्र में उन्हें हार्ट अटैक (Heart Attack) कैसे आ सकता है. जबिक वो अपनी फ़िटनेस का काफ़ी ख़्याल रखते थे. आखिर क्या वजह हो सकती है, जो हार्ट अटैक आने से उनकी मौत हो गई?

एक यंग स्टार की मौत चौंकाने वाली है, जिस पर कई एक्सपर्ट्स ने अपनी राय भी दी है. जिससे पता चलता है कि चंद वजहों के कारण कम उम्र में दिल का दौरा पड़ने का ख़तरा बढ़ जाता है.

आइये जानते हैं कि कम उम्र में हार्ट अटैक आने के क्या कारण हो सकते हैं.  

ये भी पढ़ें: कैसे अलग हैं हार्ट अटैक और Cardiac Arrest, क्या हैं इनके लक्षण और कैसे दें इसके लिए First Aid 

1. नशा 

आज कल के अधिकतर युवा कम उम्र धूम्रपान और एल्कोहल का सेवन शुरू कर देते हैं. एल्कोहल और धूम्रपान की इसी लत के कारण वो कार्डियोवास्कुलर (Cardiovascular) का शिकार बनते हैं. अधिकतर दिल की बीमारियां कार्डियोवास्कुलर की वजह से ही होती हैं.

नशा
Source: medical

2. ग़लत खान-पान 

जंक-फ़ूड और अंट-शंट खाने की वजह से शरीर में कैलोरी की मात्रा बढ़ जाती है, जिसका सीधा असर दिल पर पड़ता है और हार्ट अटैक होने की संभावान बढ़ जाती है. अब अधिकतर लोग घर का खाना खाने के बजाये भूख मिटाने के लिये फ़ौरन बाहर कुछ भी खा लेते हैं, जो कि नहीं खाना चाहिये.  

Junk Food
Source: purityproducts

3. तनाव  

एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में हर युवा तेज़ी से आगे निकलना चाहता है. यहां मुस्कुराते चेहरे के पीछे कई कहानियां और ग़म छिपे होते हैं. ये लाइफ़ ऊपर से जितनी ग्लैमरस दिखती है. अंदर से उतनी ही तनावभरी होती है. तनाव के कारण हार्ट अटैक आना एक आम समस्या है.

तनाव
Source: canr

4. स्टेरॉयड का सेवन 

आज कल बॉडी बनाने की होड़ में अधिकतर लोग स्टेरॉयड का सेवन करते हैं. लोगों में फ़िटनेस का क्रेज़ इतना बढ़ चुका है कि वो भूल जाते हैं कि स्टेरॉयड का सेवन उनकी मौत का कारण बन सकता है.

स्टेरॉयड
Source: cloudinary

5. टाइम से न सोना 

पैसे और शोहरत की चाह में युवा रात-रात भर जागकर काम करते हैं, जिसका दिल पर बुरा असर पड़ता है.  

Sleeping
Source: healthline

हार्ट अटैक के लक्ष्ण 

सिद्धार्थ शुक्ला की मौत से एक बात साफ़ है कि दिल का दौरा किसी भी उम्र में पड़ सकता है. इसलिये कुछ शारीरिक समस्याओं को बिल्कुल हल्के में न लें.

जैसे: नींद की समस्या, सांस लेने में तकलीफ़, पैरों में सूजन, अचानक दिल की धड़कने तेज़ होना और बहुत जल्दी थकान महसूस होना. अगर आप इन समस्याओं से जूझ रहे हैं, तो फ़ौरन डॉक्टर से मिलें और एहतियात बरतें.

हार्ट अटैक
Source: 1s3rpo3f653rp8i8y42xsvv1

कैसे करें बचाव?

- हार्ट अटैक जैसी जानलेवा बीमारी से बचने के लिये हेल्दी लाइफ़स्टाइल अपनाएं.

- जितना हो सकें घर का खाना खायें.
- स्टेरॉयड की जगह योगा और एक्सरसाइज़ करके बॉडी बनाएं.
- म्यूज़िक सुनें.
- अपनों के साथ वक़्त गुज़ारें और तनाव से बचें.

अंत में हम इतना ही कहेंगे ज़िंदगी बहुत छोटी है. ख़ुश रहिये और ख़ुशियां बांटते रहिये. न तनाव लें और न ही दूसरों के तनाव की वजह बनें.