भारत में इन दिनों फ़ास्ट फ़ूड काफ़ी डिमांड में है. विदेशी फ़ास्ट फ़ूड में ख़ासकर पिज़्ज़ा, बर्गर, चाउमीन, सैंडविच और पास्ता लोगों की पहली पसंद बन चुके हैं. एक दौर था जब भारत में बर्थडे से लेकर हर छोटी ख़ुशी के मौके पर ‘समोसा और जलेबी’ की पार्टी हुआ करती थी. लेकिन आज पूरा सीन बदल चुका है. आजकल के बच्चे समोसा-जलेबी नहीं, बल्कि पिज़्ज़ा-बर्गर की पार्टी से नीचे तो बात ही नहीं करते. आज भारत में पिज़्ज़ा और बर्गर सबसे अधिक बिकने वाले फ़ास्ट फ़ूड बन चुके हैं. इसलिए आज आपको भारत में पिज़्ज़ा के इतिहास के बारे में ही बताने जा रहे हैं कि पहले से अब इसकी क़ीमत में कितनी बढ़ोतरी हुई है.

ये भी पढ़ें: जानते हो 20 साल पहले ‘पेट्रोल’ से लेकर ‘चीनी’ तक, डेली इस्तेमाल की ये 10 चीज़ें कितनी सस्ती थीं

onmanorama

भारत में पिज़्ज़ा की शुरुआत आज से क़रीब 25 साल पहले हुई थी. इस दौरान डॉमिनोज़ पिज़्ज़ा (Domino’s Pizza) और पिज़्ज़ा हट (Pizza Hut) को शुरुआत में काफ़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. भारत में तब केवल उच्च वर्ग के लोग ही इसके ग्राहक हुआ करते थे. बाकी लोगों को या तो पिज़्ज़ा पसंद नहीं आता था या फिर अधिकतर लोग इसे ख़रीद नहीं पाते थे.

rajneta

डॉमिनोज़ पिज़्ज़ा (Domino’s Pizza)

डॉमिनोज़ पिज़्ज़ा (Domino’s Pizza) की शुरुआत पहली बार 1960 में अमेरिका में हुई थी. इसके बाद जनवरी 1996 में अमेरिकन कंपनी Domino’s Pizza, Inc. ने भारत में अपना पहला आउटलेट खोला था. इस दौरान कंपनी ने नॉएडा की ‘Jubilant FoodWorks’ के साथ मिलकर दिल्ली में अपने पहले ‘पिज़्ज़ा आउटलेट’ की शुरुआत की थी. आज भारत के 307 शहरों में डॉमिनोज़ पिज़्ज़ा (Domino’s Pizza) के 1435 आउटलेट्स खुल चुके हैं. इसके अलावा ‘जुब्लिएंट फूडवर्क्स’ के भारत समेत श्रीलंका, नेपाल और बांग्लादेश में कई आउटलेट्स हैं. 

forbes

पिज़्ज़ा हट (Pizza Hut) 

भारत में ‘डॉमिनोज़’ के मशहूर होने के 6 महीने बाद ही पिज़्ज़ा हट (Pizza Hut) भी मैदान में उतर गई और भारत में अपने पहले आउटलेट की घोषणा कर दी. पिज़्ज़ा हट ने भारत में अपना पहला आउटलेट 18 जून, 1996 को बैंगलोर में खोला था. हालांकि, इस दौरान ‘कर्नाटक राज्य रायथा संघ’ (केआरआरएस), ‘किसान संघ’ और कुछ ‘शाकाहारी समर्थक समूहों’ ने इसका जमकर विरोध भी किया. इसके बाद पिज़्ज़ा हट (Pizza Hut) के आउटलेट को सुरक्षा प्रदान करने के लिए जवानों की तैनाती कर दी गई थी.

foodbusinessnews

25 साल पहले कितनी थी पिज़्ज़ा की क़ीमत? 

1970 के दशक की शुरुआत में 1 पिज़्ज़ा की क़ीमत बढ़कर 35 सेंट हो गया था. इसके बाद 1995 इसकी क़ीमत बढ़कर 1.25 डॉलर (तब के 44 रुपये) हो गयी. साल 1996 में 1 अमेरिकी डॉलर की क़ीमत 35.43 भारतीय रुपयों के बराबर थी. तब के 36 भारतीय रुपयों की क़ीमत आज के 300 रुपयों के बराबर है. इस हिसाब से कह सकते हैं कि तब पिज़्ज़ा भारतीयों की पहुंच से दूर था.

youtube

आज भारत में डॉमिनोज़ (Domino’s) के 1 पिज़्ज़ा (Pizza) की क़ीमत 100 रुपये से लेकर 500 रुपये के बीच है. जबकि पिज़्ज़ा हट (Pizza Hut) के 1 पिज़्ज़ा (Pizza) की क़ीमत 150 रुपये से लेकर 650 रुपये के बीच है.