India’s Beautiful Glaciers: जिनको पहाड़ पसंद हैं, छुपे हुए रास्तों पर हाइकिंग करने का आनंद उनसे बेहतर और कोई नहीं समझ सकता. अपनी शीतलता के बावजूद ग्लेशियरों के पास एडवेंचरर्स को आकर्षित करने की एक ख़ूबी होती है और भारतीय हिमालय निडर आत्माओं के लिए ट्रेकिंग के अद्वितीय अवसर प्रदान करता है. गॉर्जियस घाटियों के ख़ूबसूरत व्यूज़, शांत माउंटेन तालाब, बर्फ़ से ढके जंगल, गड़गड़ाती नदियां, जमे हुए झरनों का मज़ा देते ग्लेशियर. ऐसा कौन ही होगा जो इन सब चीजों का दीदार नहीं करना चाहेगा.  

आइए आपको भारत के 8 ग्लेशियर्स (India’s Beautiful Glaciers) के बारे में बताते हैं, जहां हर ट्रेकिंग करने वाले व्यक्ति को ज़रूर जाना चाहिए.

India’s Beautiful Glaciers

1. सतोपंथ ग्लेशियर

ये ग्लेशियर उत्तराखंड के चमोली ज़िले में स्थित है. ये लगभग 13 किमी तक फैला है, जो एक अत्यंत मोहक मार्ग से सुशोभित है और चारों ओर से शक्तिशाली बर्फ से ढकी चोटियों से घिरा हुआ है. इसका नाम दो शब्दों से निकला है- ‘सतो’ का अर्थ सत्य और ‘पंथ’ का अर्थ है रास्ता. ये ग्लेशियर शौकीनों और साहसिक लोगों के लिए एक अद्भुत डेस्टिनेशन है. आप इस ग्लेशियर तक चमोली के जोशीमठ से होते हुये जा सकते हैं. इस ग्लेशियर की अद्भुत पगडंडी माणा गांव से शुरू होती है और अलकनंदा नदी के रास्ते का अनुसरण करती है. इसके साथ आपको वसुंधरा वाटरफ़ॉल की सुंदरता भी देखने को मिलेगी. 15100 फ़ीट की ऊंचाई पर भव्य सतोपंथ ताल (झील) है, जो प्रसिद्ध चोटियों- चौखम्बा, नीलकंठ, स्वर्गारोहिणी और बालाकुन से घिरा हुआ है.

moustachescapes

2. गंगोत्री ग्लेशियर

ये भारत के सबसे पॉपुलर ग्लेशियर्स में से एक है. ये उत्तरकाशी क्षेत्र के चरम इलाक़े में स्थित है और क़रीब 30 किलोमीटर लंबा और 2 से 4 किलोमीटर चौड़ा है. ये ग्लेशियर चौखंबा चोटी के ठीक नीचे से निकलकर उत्तर-पश्चिम की ओर बहता है और पानी की धारा एक गाय के मुंह का आकार बनाती है. इसी प्रकार इसका नाम गौमुख पड़ा. गंगोत्री हिमालय का सबसे बड़ा ग्लेशियर होने के कारण भागीरथी III, मेरु, शिवलिंग और थलै सागर चोटियों से घिरा हुआ है, जो गंगा की प्रमुख सहायक नदियों में से एक है.

remotelands

3. द्रांग द्रुंग ग्लेशियर

अगर कोई एक ऐसी डेस्टिनेशन है, जो हर ट्रेवलर की चेकलिस्ट में आपको मिलेगी, वो जगह लद्दाख है. इसके साथ ही अगर आप अपनी ट्रिप पर पेन्सी ला पहुंच जाते हैं, तो आप द्रांग द्रुंग ग्लेशियर कहे जाने वाले सबसे सुरम्य प्राकृतिक चमत्कारों में से एक का अनुभव कर सकते हैं. ये क़रीब 4,780 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है. इसको लदाख का सबसे बड़ा ग्लेशियर कहा जाता है. यहां आप कारगिल-ज़ंस्कार रोड से जा सकते हैं. 

tourmyindia

India’s Beautiful Glaciers

4. कोलाहोइ ग्लेशियर

4700 मीटर की ऊंचाई पर स्थित इस ग्लेशियर को कश्मीर की छुपी हुई जन्नत कहा जा सकता है. अभी भी इसे कई लोगों द्वारा डिस्कवर किया जाना बाकी है. ये पहलगाम क़स्बे से 26 किमीकी दूरी पर है. ये किसी प्राकृतिक चमत्कार से कम नहीं है. कश्मीर हिमालय में सबसे बड़ा ग्लेशियर होने के कारण, ये झेलम नदी की दो प्रमुख सहायक नदियों- लिद्दर और सिंध से मिलता है. एक छोटा सा ट्रेक जो अरु घाटी से शुरू होता है और लिद्दर घाटी को पार करता है, अंत में इस भव्य ग्लेशियर की ओर जाता है. इसके रास्ते पर आपको पाइन पेड़, जंगली फूलों से रंगे घास के मैदान, नदियां और बर्फ़ की चोटियां दिख जाएंगी. आप लिद्दर नदी के किनारे रात में कैंपिंग भी कर सकते हैं. 

vxplor

5. मिलम ग्लेशियर

ये ग्लेशियर उत्तराखंड के पिथौरागढ़ ज़िले में 4268 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है. ये 37 स्क्वायर किमी की जगह में फ़ैला हुआ है. हर ट्रेकर की बकेट लिस्ट में ये जगह होने की एक मज़बूत वजह है. मुनस्यारी में बेस कैंप से ग्लेशियर तक की पगडंडी, माउंट त्रिशूली (7070 मीटर) और हरदेओल (7151 मीटर) के लुभावने दृश्यों के साथ, भव्यता और रोमांच के अनूठे मिश्रण से सुसज्जित है. साल 1962 में जब भारत और चीन के बीच युद्ध शुरू हुआ था, तब इस रास्ते को ट्रेकर्स के लिए बंद कर दिया गया था. आप मिलम ग्लेशियर ट्रेक के कुछ प्रमुख़ स्थलों में युद्ध के अवशेष देख सकते हैं. हालांकि, साल 1994 में ट्रेकिंग फिर से शुरू हुई और धीरे-धीरे ये कई ट्रेकर्स और साहसी लोगों के दिलों के सबसे क़रीब हो गई.

travelworldplanet

India’s Beautiful Glaciers

6. पिंडारी ग्लेशियर

पिंडारी ग्लेशियर उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र में स्थित है. ये 9 किलोमीटर लंबा है और पिंडर नदी को जन्म देता है, जो गढ़वाल ज़िले के कर्णप्रयाग में अलकनंदा से मिलती है. बर्फ़ से ढकी चोटियों के हर गुज़रते बादल के साथ लुका-छिपी खेलते हुए लुभावने दृश्य, सुंदर झरने और हरे-भरे घास के मैदान आपको तुरंत इसकी सुंदरता की ओर आकर्षित कर देंगे. ये लोहारखेत से शुरू होता है, जोकि बागेश्वर ज़िले से 20 किमी दूर एक छोटा सा गांव है. 

bugyalvalley

ये भी पढ़ें: इन 10 तस्वीरों में देखें बीते सालों में Climate Change की वजह से Glaciers का क्या हाल हुआ है

7. बनबुनी ग्लेशियर

पॉपुलर ट्रेक खीरगंगा के क्षेत्र में एक और ख़ूबसूरत ग्लेशियर है, जिसका नाम बनबुनी है. भीड़ अभी तक उस राह पर नहीं आई है, शायद इसलिए कि ये खीरगंगा से थोड़ी कठिन है, लेकिन कम ख़ूबसूरत नहीं है. ये 3800 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है और कलगा गांव से शुरू होता है. यहां से आप खीरगंगा तक ट्रेक करते हुए भी जा सकते हैं और फिर बनबुनी ग्लेशियर पर निकल सकते हैं. जैसे ही आप पार्वती घाटी को पार करेंगे, दोनों तरफ घास के मैदान के साथ, आप पहाड़ों के शानदार दृश्यों और चोटियों को चूमते बादलों से अचंभित हो जाएंगे. यहां जाने का बेस्ट समय अप्रैल-जून और सितंबर-अक्टूबर के बीच है. 

tripoto

India’s Beautiful Glaciers

8. बुद्धबन ग्लेशियर

आपकी ट्रेवल बकेट लिस्ट में कसोल ज़रूर होगा, लेकिन इसके पास एक गॉर्जियस ग्लेशियर है, जहां आप आसानी से हाइक करके जा सकते हैं. इसका नाम बुद्धबन ग्लेशियर है, जिसे कटला ग्लेशियर भी कहा जाता है. आप यहां पहुंचने के लिए अपनी हाइक तोश से शुरू कर सकते हैं. ये बाकी सबसे थोड़ा आसान ट्रेक है और इसे खत्म करने में आपको क़रीब 2 घंटे लगेंगे. पगडंडी आपको एक छोटे से झरने तक ले जाएगी, जहां आप दूर-दूर तक बर्फ से ढकी चोटियां भी देखेंगे, रास्ते में हिमाचल की अछूती सुंदरता आपको मंत्रमुग्ध कर देगी. 

इनकी सुंदरता को बयां करने के लिए लफ्ज़ कम पड़ जाएंगे.