Boeing Aircraft: बोइंग एयरक्राफ़्ट से जुड़ी ख़बरें अक्सर आती रहती हैं. कभी उसके सुरक्षित लैंडिंग की तो कभी उसके दुर्घटनाग्रस्त होने की. इन एयरक्राफ़्ट का इस्तेमाल कमर्शियल और रक्षा दोनों के उद्देश्य से किया जाता है. इसीलिए अमेरिकी कंपनी बोइंग न सिर्फ़ क‍मर्शियल एयरक्राफ़्ट बनाती है बल्कि रक्षा के क्षेत्र में भी इस पर काम करती है. अमेरिकी कंपनी बोइंग अक्सर अपने विमान को लेकर चर्चा में भी रहती है, लेकिन इस बोइंग एयरक्राफ़्ट (Boeing Aircraft) से जुड़ी अनेकों ख़बरें पढ़ते समय कभी सोचा है कि आख़िर क्यों सभी बोइंग एयरक्राफ़्ट (Boeing Aircraft) के नम्बर 7 से ही शुरू होते हैं? इस नम्बर 7 के पीछे एक बहुत ही रोचक कहानी है, जिसे आप सबको जानना चाहिए.

चलिए, फटाफट इस नम्बर 7 के पीछे का रहस्य जानते हैं और ये भी जानते हैं कि आख़िर बोइंग एयरक्राफ़्ट में इस 7 नम्बर का मतलब क्या है?

Boeing 777
Source: 365dm

ये भी पढ़ें: जानिये ट्रेन के इंजन पर क्यों लिखा होता है 'भगत की कोठी'?

Boeing Aircraft

शुरुआती मॉडल नम्बर 100 से शुरू हुए थे

दरअसल, बोइंग ने शुरू में जो भी एयरक्राफ़्ट बनाए उनके मॉडल नम्बर की शुरुआत 100 से की गई थी. इसमें सिंगल विंग डिज़ाइन के लिए बोइंग 200 नम्बर का इस्तेमाल होता था. इसके अलावा, 300 और 400 कमर्शियल प्रॉपेलर वाले बोइंग एयरक्राफ़्ट होते थे. साथ ही, 500 नंबर का वाले सभी टर्बो इंजन एयरक्राफ़्ट होते थे और 600 नम्बर का मिसाइल और रॉकेट से चलने वाली डिवाइसेज़ के लिए होता था. 700 नम्बर बोइंग के कमर्शियल जेटलाइनर और 800 नम्बर का इस्तेमाल अब नहीं होता है.

सुरक्षा की दृष्टि से किया गया था 7 नम्बर का इस्तेमाल

हालांकि, कुछ लोगों का अनुमान था कि, बोइंग का 707 नम्बर यात्रियों की संख्या के बारे में बताता है कि एक बार में कितने यात्री बोइंग एयरक्राफ़्ट में ट्रैवल कर सकते हैं, जबकि इन नम्बरों के पीछे की हक़ीकत यात्रियों की संख्या से नहीं, बल्कि 7 नम्बर का प्रयोग एयरक्राफ़्ट की सुविधा के मकसद से किया गया था.

Boeing Aircraft
Source: yimg

जैसा कि, हम सब जानते हैं कि किसी भी एयरक्राफ़्ट की पहचान उसके नम्बर से होती है और ये उसकी पहचान करने का सबसे आसान तरीक़ा भी होता है. इससे इंजीनियर्स को भी बोइंग को पहचानने और उनमें अंतर करने में मदद मिलती है. इससे हटकर आम लोगों की मानें तो उनका कहना है कि, बोइंग की जब पहली कमर्शियल पैसंजर एयरलाइन का एलान किया गया तो, उस एयरक्राफ़्ट को 707 नम्बर दिया गया था. आपको बता दें, बोइंग 707 की लॉन्चिंग को जेट एज की शुरुआत भी कहा जाता है.

Boeing Aircraft
Source: airlines-inform

ये भी पढ़ें: रोचक तथ्य : क्या आपको पता है 1 लीटर ईंधन में हवाई जहाज़ कितनी दूरी तय कर सकता है?

बोइंग की पहली एयरलाइन को ये नम्बर देने की वजह से ही ये फ़ैसला लिया गया कि अब से हर जेट के नम्बर की शुरुआत और इसका अंत नम्बर 7 से ही होगा. साथ ही, इस फ़ैसले में ये भी तय किया गया कि इस नम्बर का इस्तेमाल केवल कमर्शियल जेट के लिए ही होगा.

Boeing Aircraft
Source: blogspot

जैसा कि आपने जाना कि बोइंग एरक्राफ़्ट में नम्बर 7 का इस्तेमाल सुरक्षा कारणों के साथ-साथ उसके पहली बार की कहानी से भी जुड़ा है.