लगातार बढ़ती आबादी ने शहरों में ट्रैफ़िक की समस्या को भी बढ़ा दिया है. ऐसे में एक जगह से दूसरी जगह पहुंचने में लोगों को रोज़ाना हेवी ट्रैफ़िक का सामना करना पड़ता है. इससे उनकी पर्सनल और प्रोफ़ेशनल लाइफ़, दोनों डिस्टर्ब होती है. हमारे शहर भी इससे अछूते नहीं है. लोकेशन टेक्नोलॉजी स्पेशनलिस्ट कंपनी TomTom ने इसे लेकर एक सर्वे किया है. साल 2018 में हुए सर्वे का नाम है Traffic-Index 2018.

आइए जानते हैं इनके अनुसार दुनिया के सबसे कंजेस्टेड यानि भीड़-भाड़ वाले इलाकों के बारे में…

10. Recife 

Source: riotimesonline

ये ब्राज़ील का एक शहर है, जिसकी आबादी क़रीब 15 लाख है. यहां सुबह 7-8 और शाम को 5-6 बजे के बीच सड़कों पर वाहनों की कतारें लगना आम बात है. 

9. Mexico City 

Source: eluniversal

सर्वे के अनुसार, यहां का कंजेशन लेवल 52 प्रतिशत है. इस लिस्ट में ये 9वें स्थान पर है. साल 2017 से ही यहां पर ऐसी स्थिति बरकरार है. 

8. Bangkok 

Source: lovepattayathailand

अपने भव्य मंदिरों और नाईटलाइफ़ के लिए जाना जाने वाला बैंकॉक इस लिस्ट में 8वें नंबर पर है. यहां पर कंजेशन लेवल 53 प्रतिशत है.

7. Jakarta 

Source: towardsdatascience

इंडोनेशिया का ये शहर 7वें पायदान पर है. यहां पर शाम 5 से लेकर 7 बजे तक लोगों को ट्रैफ़िक से जूझ कर अपने गंतव्य तक पहुंचना पड़ता है. 

6. Istanbul 

Source: hurriyetdailynews

ये ऐसा शहर है जो यूरोप और एशिया दोनों महाद्वीपों में आता है. ये भीड़-भाड़ वाले शहरों की लिस्ट में छठे नंबर पर है. यहां आधे घंटे की यात्रा पीक ऑवर्स में 1 घंटे से अधिक की हो सकती है. 

5. Moscow 

Source: indiatoday

पिछले साल के मुकाबले यहां पर 1 फ़ीसदी कंजेशन लेवल में कमी देखने को मिली है. लेकिन फिर भी ये ख़ुद को इस लिस्ट में 5वें पायदान पर आने से नहीं रोक सका. .

4. New Delhi 

Source: hindustantimes

हमारे देश की राजधानी दिल्ली दुनिया के टॉप 5 कंजेस्टेड शहरों में से एक है. इस लिस्ट में ये चौथे स्थान पर है. यहां पर पिछले साल कंजेशन लेवल 53 प्रतिशत था

3. Lima 

Source: perureports

पेरू की राजधानी लीमा तीसरे नंबर पर है. यहां पर पीक ऑवर्स में कंजेशन लेवल 83% तक पहुंच जाता है.

 2. Bogota 

Source: mckinsey

दूसरे स्थान पर है कोलंबिया का शहर बगोटा. यहां पर कंजेशन लेवल 65 फ़ीसदी है. इसका कारण शहर का ख़राब इंन्फ़्रस्ट्रक्चर और तेज़ी से बढ़ती कारों की संख्या है. 

1. Mumbai 

Source: autocarindia

देश की आर्थिक राजधानी इस लिस्ट में पहले नंबर पर है. अधिक जनसंख्या, अधिक कार और ट्रैफ़िक नियमों का पालन न करना जैसे कुछ फ़ैक्टर यहां के ट्रैफ़िक की समस्या को बढ़ाते हैं. 

अगर आप भी इन शहरों में रहते हैं, तो समय से पहले ऑफ़िस के लिए निकलने में ही भलाई है. 

Lifestyle से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.