आंइस्टीन, न्यूटन और आर्य भट्ट के नाम तो हम सब ने सुने हैं. दुनिया इनके दिमाग़ का लोहा मानती है. इनकी खोज आज भी दुनिया में मिसाल क़ायम करती है. इन्हें दुनिया के सबसे तेज़ दिमाग़ कहा जाता है. लेकिन आपको पता है कि एक शख़्स और भी है, जो इन सबसे तेज़ दिमाग़ था, जिसके बारे में कहा जाता है कि अगर वो ख़ुद को दुनिया से नहीं छिपाते, न्यूटन और आंइस्टीन भी इनके आगे पानी मांगते

Albert Einstein
Source: Webduniya

कौन हैं वो?

अब सवाल ये उठता है कि आख़िर कौन थे वो? आख़िर क्या ख़ास था उनमें? आखिर क्यों उन्होंने ख़ुद को दुनिया से छिपा कर रखा? हम आपको इन सारे सवालों का ज़वाब देगें. लेकिन पहले उनके नाम से शुरु करते हैं.

क्या था ख़ास?

उस शख़्स का नाम विलियम जेम्स था. 1898 में अमेरिका में पैदा हुए इस शख़्स के बारे में बताया जाता है कि जहां आइंस्टाइन का आईक्यू 160 और न्यूटन का आईक्यू 190 था, वहीं विलियम्स का आईक्यू 260 था. आठ साल की उम्र में ये शख़्स 8 जुबान जानता था. इतना ही नहीं आप जान कर हैरान हो जाएंगे कि मात्र 18 महिने की उम्र में विलियम्स ने अख़बार पढ़ना शुरू कर दिया था. बताया जाता है कि विलियम्स ने बिना किसी शिक्षा के पढ़ना और बोलना शुरू किया था. 

William james
Source: Quora

नई भाषा की खोज़

विलियम्स ने पढ़ने और बोलने के साथ-साथ 14 साल की उम्र में अपनी ख़ुद की एक ज़ुबान ईजाद कर ली थी. जिसे वो वेंडर गुड भाषा बोलता था. विलियम्स पहले शख़्स थे जिन्हें छोटी उम्र में हावर्ड्स यूनिवर्सिटी में पढ़ने का मौक़ा मिला था. ठीक एक साल बाद ही विलियम्स ने अपने गणित टीचर को पढ़ना शुरू कर दिया था. मात्र 16 साल में विलियम्स ने स्नातक डिग्री हासिल कर ली थी. 


William james
Source: Tez

भीड़ नहीं थी पसंद

मिलती शौहरत से विलियम्स को घबराहट होने लगी थी. छोटी उम्र में ही लोग उसे पहचानने लगे थे. लेकिन उसें ये शौहरत पसंद नहीं थी. उन्हें अकेला रहना पसंद था. भीड़ से दूर एक छोटे से घर में विलियम अकेले पढ़ते रहते. इसी कारण इन्हें पसंद करने वाले भी इनके ख़िलाफ़ हो गए थे. पहले विश्व युद्ध में जंग के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने वाले विलियम्स को 18 साल जेल में भी काटने पड़े थे.

William james
Source: Quora

खुद को छिपाने के लिए बदलते रहे शहर

लेकिन इसके बावजूद विलियम्स ने अपने को दुनिया की भीड़ से दूर रखा और छोटे-छोटे काम करते रहे. फिर भी लोग कहीं न कहीं उनकों पहचान जाते, ऐसे में वो शहर दर शहर लगातार बदलते रहे. ज़िंदगी में कभी शादी नहीं करने के फ़ैसले को क़ायम रखने वाले विलियम्स की मौत 44 साल की उम्र में हो गई और दुनिया का सबसे तेज़ दिमाग़ बिना की बड़ी पहचान बनाएं दुनिया से चला गया. 

ऐसे न जाने कितने शानदार दिमाग को हम जानते भी नहीं. कितने ही ऐसे लोग गुमनामी की ज़िदगी जी कर दुनिया छोड़ गए. लेकिन इस अद्भुत इंसान के बारे में इस पोस्ट को शेयर कर के अपने दोस्तों को ज़रूर बताएं. अगर इनके बारे में आप पहले से जानते हैं, तो वो भी हमें कमेंट बॉक्स में लिख कर ज़रूर बताएं