सेव(एक प्रकार की नमकीन) भारत में बहुत लोकप्रिय है. गुजरात और एमपी के लोग तो इसे बड़े चाव से खाते हैं. गुजराती लोग सेव 'टोमेटो नू शाक' और इंदौर के लोग 'पोहे' आदि में डालकर इसे मजे़े से खाते हैं. कुछ लोगों का तो यहां तक कहना ही इंदौरी लोगों का बस चले तो वो हर चीज़ मे सेव डालकर खा जाएं. 


चाट का भी स्वाद बढ़ा देती है सेव(Sev). छोटी-छोटी भूख को भी मिटाने के काम आती है सेव. आम सी दिखने से का दर्जा भारत में बहुत ख़ास है. चलिए इसी बात पर आपको बताते हैं कि भारत कितने प्रकार सेव मिलती है.

ये भी पढ़ें: 150 साल पुरानी बीकानेरी भुजिया को पहली बार कब और किस राजा के राज में बनाया गया, जानना चाहते हो? 

1. नायलॉन सेव 

नायलॉन सेव(Nylon Sev) बहुत ही पतली सेव होती है जिसे बेसन से बनाया जाता है. इसका स्वाद थोड़ा फीका होता है. इसका इस्तेमाल चाट में भी किया जाता है. चाट में इसे क्रंची टेस्ट लाने के लिए डाला जाता है. फीकी होने के कारण ये चाट का स्वाद भी नहीं बदलती. 

Nylon Sev
Source: shopify

2. आलू भुजिया सेव 

आलू भुजिया सेव (Aloo Bhujia Sev) को लोग आलू भुजिया के नाम से जानते हैं. इसका तो दीवाना पूरा भारत है. लोग इसे बहुत ही चाव से खाते हैं. इसे बेसन में आलू और कई प्रकार के मसाले डालकर बनाया जाता है. कहते हैं इसका स्वाद जो एक बार चख लेता है वो इसका फ़ैन हो जाता है.

aloo bhujia
Source: mithaiexpress

3. लौंग सेव 

इसे बेसन, लौंग, काली मिर्च और अन्य मसालों से बनाया जाता है. ये बहुत ही स्पाइसी होती है. चाय के साथ इसे खाने में बड़ा मज़ा आता है. लौंग सेव को रतलामी सेव और इंदौरी सेव भी कहा जाता है. इसका इतिहास 200 साल से भी अधिक पुराना है. रतलामी सेव को 2017 में GI टैग भी मिला था. इसकी रेसिपी यहां है.

laung sev
Source: aahaaramonline

सेव के प्रकार

4. बेसन भुजिया 

ये भी सेव का एक प्रकार है. इसे भी बेसन से ही तैयार किया जाता है. इसमें बेसन के स्पाइसी टुकड़े भी डाले जाते हैं, ये उसका स्वाद दोगुना कर देते हैं. इसे तीखा बनाने के लिए लौंग और काली मिर्च डाली जाती है. बेसन से बनने वाली इस सेव को तीखा सेव भी कहते हैं.

besan bhujia
Source: exportersindia

5. मसाला सेव 

मसाला सेव(Masala Sev) थोड़ी तिखी होती है. इसे कई तरह के नाश्ते के ऊपर डालकर खा सकते हैं जैसे पोहा, उपमा आदि. इसे लौंग, काली मिर्च और अजवाइन डालकर बनाया जाता है.

Masala Sev
Source: YouTube

सेव के प्रकार

6. राजगीरा सेव 

इस सेव को राजगीरा के आटे से बनाया जाता है. इसलिए इसे उपवास में भी खा सकते हैं. इसका स्वाद भी बहुत मज़ेदार होता है. रेसिपी के लिए यहां क्लिक करें.

rajgira sev
Source: cookpad

इसके अलावा मार्केट में अलग-अलग प्रकार और टेस्ट के सेव मिलते हैं. इन्हें बनाने की रेसिपी एक जैसी है ही बस फ़्लेवर के लिए उसमें अलग-अलग सामग्री डाल दी जाती है. जैसे टोमेटो सेव, पालक सेव, गार्लिक सेव आदि. सेव के प्रकार से जुड़ा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा कमेंट बॉक्स में बताना.