Royal Enfield, ये वो बाइक है, जिसके दीवाने दुनियाभर में हैं. ख़ासतौर से भारत में तो युवा इसे बेहद पसंद करते हैं. हालांकि, भारत में मॉडर्न  Royal Enfield देखने को मिलती हैं. मगर हम जिन बाइकों के बारे में बताएंगे, वो दूसरे विश्व युद्ध से पहले और बाद के कुछ वक़्त तक मार्केट में थीं.

तो आइए, देखते हैं Royal Enfield की वो बाइकें, जिन्हें साल 1910 से लेकर 1950 के बीच लॉन्च किया गया था.

1. Royal Enfield Model 180 (1913)

Royal Enfield Model 180
Source: indianautosblog

रॉयल एनफील्ड मॉडल 180 सबसे पुराने ट्विन-सिलेंडर आरई मोटरसाइकिलों में से एक है, जिसमें एक जेएपी-सोर्स 770 cc, वी-ट्विन इंजन था, जो 2-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स के साथ आया था. मोटर का अधिकतम पावर 6 bhp था, जबकि ये बॉश मैग्नेटो और एएमएसी कार्बोरेटर के साथ आया था. इस विंटेज रॉयल एनफील्ड में एक साइड कार भी दी गई थी. बाइक में वीगेल स्पीडोमीटर, पी एंड एच एसिटिलीन लैंप और हॉर्न को भी शामिल किया गया था.

ये भी पढ़ें: ये हैं 90 के दशक की वो सुपरहिट कारें, जिन्हें देखकर आपके बचपन की यादें ताज़ा हो जाएंगी

2. Royal Enfield 2o1 (1914)

Royal Enfield 2o1
Source: indianautosblog

रॉयल एनफील्ड 201 को पहली बार 1914 में जनता के सामने पेश किया गया था. हालांकि, प्रथम विश्व युद्ध के परिणामस्वरूप, 1919 से पहले केवल कुछ मशीनों का निर्माण किया गया था. रॉयल एनफील्ड 201 में 225 cc, सिंगल-सिलेंडर, टू-स्ट्रोक इंजन का इस्तेमाल किया गया था. जो अधिकतम पावर 2.25 bhp था. इंजन को 2-स्पीड गियरबॉक्स के साथ ट्विन प्राइमरी चेन के साथ जोड़ा गया था. बाइक में 'ट्राम हैंडल' गियर चेंज लीवर भी था. रॉयल एनफील्ड 201 में साइडकार मॉडल मिलती थी.

3. Royal Enfield Model 140 (1913)

Royal Enfield Model 140
Source: indianautosblog

रॉयल एनफील्ड मॉडल 140 को 1913 लॉन्च किया गया. विंटेज रॉयल एनफील्ड मॉडल 140 को रॉयल एनफील्ड द्वारा विकसित 425 cc, वी-ट्विन सिलेंडर, टू-स्ट्रोक इंजन से बिजली मिलती थी, जो अधिकतम 3 bhp की पावर जेनरेट करती थी. मोटर को 2-स्पीड गियरबॉक्स के साथ ट्विन प्राइमरी चेन और 'ट्राम हैंडल' गियर चेंज लीवर के साथ जोड़ा गया था.

4. Royal Enfield WD/RE ‘Flying Flea’ (1939)

Flying Flea
Source: indianautosblog

Royal Enfield WD/RE का लोकप्रिय नाम ‘Flying Flea’ है. दरअसल, इसे बाइक को पैरा ड्रॉप भी किया जा सकता था. जहां रेडियो से कम्युनिकेशन नहीं हो पाता था, वहां इस बाइक का इस्तेमाल हवाई और असॉल्ट सैनिकों के बीच संदेशों और संकेतों भिजवाने के लिए होता था. Royal Enfield WD/RE जर्मन DKW RT100 पर आधारित थी, लेकिन इसमें बोर-आउट 125 cc, सिंगल-सिलेंडर, टू-स्ट्रोक इंजन का इस्तेमाल किया गया था, जो 4,500 rpm पर 3.5 bhp की अधिकतम पावर जेनरेट करती थी, और 4-स्पीड गियरबॉक्स के साथ आती थी. इसकी अधिकतम स्पीड 72.5 किमी/घंटा थी।

5. Royal Enfield Model K (1933)

Royal Enfield Model K
Source: indianautosblog

'गोल्डन एज' के दौरान, कंपनी ने रॉयल एनफील्ड मॉडल K पेश किया, जो 1933 में बाज़ार में आया. 1936 में रॉयल एनफील्ड मॉडल KX 1140 लॉन्च होने तक ये प्रमुख रॉयल एनफील्ड मॉडल था. विंटेज रॉयल एनफील्ड मॉडल K ने 976 cc, सिंगल साइड-वाल्व, टू-स्ट्रोक, वी-ट्विन इंजन से शक्ति प्राप्त की, जिसे हाथ से संचालित 4-स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन से जोड़ा गया था. मॉडल K लुकास इलेक्ट्रिक्स से लैस था.

6. Royal Enfield Model KX 1,140 cc (1937)

Royal Enfield Model KX
Source: indianautosblog

रॉयल एनफील्ड के लिए 1930 के दशक को 'स्वर्ण युग' माना जाता था. कंपनी ने 225-976 cc की रेंज में इंजन विस्थापन क्षमता वाली विभिन्न बाइकें पेश कीं. ऐसी ही एक मोटरसाइकिल थी विंटेज रॉयल एनफील्ड मॉडल KX. मॉडल KX को 1,140 cc, टू-स्ट्रोक, सिंगल साइड-वाल्व, वी-ट्विन इंजन से लैस थी, जिसे 4-स्पीड हैंड-ऑपरेटेड मैनुअल गियरबॉक्स में जोड़ा गया था. इसकी अधिकतम स्पीड 130 किमी/घंटा थी. इस बाइक दो वर्ज़न थे. एक स्टैंडर्ड और दूसरा साइडकार. ये गाड़ी काफ़ी पसंद की गई थी, मगर दूसरे विश्व के शुरू होने के कारण साल 1939 में इसका उत्पादन बंद करना पड़ गया.

7. Royal Enfield WD/CO (1939)

Royal Enfield WD/CO
Source: pinterest

Royal Enfield WD/CO एक हल्की 346 cc मोटरसाइकिल थी. इसे दूसरे विश्व युद्ध के दौरान पेश किया गया था. इसे मिलिट्री जरूरतों को पूरा करने के लिए बनाया गया था, मगर बाद ये आम लोगों में लोकप्रिय हो गई. इसे दूसरे देशों की सेनाओं के लिए भी सप्लाई किया गया था. Royal Enfield WD/CO में एक 346 cc, सिंगल-सिलेंडर, टू-स्ट्रोक, साइड-वाल्व इंजन लगाया था, जिसे चार-स्पीड गियरबॉक्स से जोड़ा गया था. मोटरसाइकिल का वज़न 134 किलोग्राम था, जिसकी अधिकतम स्पीड113 किमी/घंटा थी.

8. Royal Enfield Model J 499 cc (1946)

 Royal Enfield Model J
Source: indianautosblog

रॉयल एनफील्ड मॉडल J गोल्डन युग की एक और मोटरसाइकिल है. बाइक में 499 cc, साइड-वाल्व, सिंगल-सिलेंडर इंजन का इस्तेमाल किया गया था, जिसमें फुट-शिफ्ट के साथ चार-स्पीड गियरबॉक्स था. 

9. Royal Enfield 500 Twin (1948-1958)

Royal Enfield 500 Twin
Source: indianautosblog

रॉयल एनफील्ड 500 ट्विन युद्ध के बाद की पहली ट्विन सिलेंडर मोटरसाइकिल थी, जिसे रॉयल एनफील्ड ने बनाया था. बाइक में टेलिस्कोपिक फ्रंट फोर्क्स, पीछे की तरफ ट्विन शॉक एब्जॉर्बर और एक स्विंगआर्म है. रॉयल एनफील्ड 500 ट्विन में 496 cc, ट्विन-सिलेंडर इंजन का उपयोग किया गया था, जिसमें एक ओवरहेड वाल्व डिज़ाइन था. इसमें  4-स्पीड गियरबॉक्स भी दिया गया था. अधिकतम स्पीड 138 किमी / घंटा थी. 

इनमें से आपकी पसंदीदा Royal Enfield कौन सी है?