रुपयों-पैसों की बात आते ही हर कोई बताने लगता है कि नोट के असली-नकली होने की पहचान कैसे होती है. कहां नोट बनाये जाते हैं, ऐसी तमाम तरह की चीज़ें. लेकिन बेचारे सिक्कों को हर कोई भूल जाता है. बहुत कम ही लोग जानते हैं कि भारत में कहां-कहां सिक्कों को ढ़ाला जाता है. कभी आपने ग़ौर किया है कि सिक्कों में उनके बनने की तिथि के नीचे ये स्टार, डायमंड, फुल स्टॉप का निशान क्यों होता है? और कुछ सिक्कों में ऐसा कोई निशान क्यों नहीं होता. यह क्या दर्शाता है?

आज आपको बताते हैं कि इन निशानों का क्या मतलब होता है. दरअसल भारत में कुल 4 टकसालें हैं, जहां सिक्कों को ढाला जाता है और फिर वह मार्केट में उतारे जाते हैं. यह टकसालें हैं कोलकाता, नोएडा, हैदराबाद और मुंबई में. मुंबई ,नोएडा, और हैदराबाद की टकसालें अपने यहां बने हर सिक्के पर पहचान के लिए अपना-अपना मार्क लगाती हैं. वहीँ कोलकाता में बने सिक्के की पहचान है कि उस पर कोई निशान नहीं होता.

1. नोएडा टकसाल

यहां बने सिक्कों पर एक छोटी सी डॉट बनी होती है. इनकी प्रोडक्शन 1988 में शुरू हुई थी.

2. मुंबई टकसाल

यहां के सिक्कों पर एक डायमंड का निशान होता है.

3. हैदराबाद टकसाल

यहां बने सिक्कों पर एक स्टार बना होता है.

4. कोलकाता टकसाल

इन सिक्कों पर कोई निशान नहीं होता.

थैंक्स मत बोलना. बस शेयर कर देना क्योंकि ज्ञान बाटने से बढ़ता है.

Source : indian-mints