भगवान के अनेक चमत्कार तो आपने सुने होंगे. कुछ तो आपने अपनी आंखों से देखे भी होंगे. पर किसी अस्पताल पर भगवान की कृपा की बात सुनी है. मेरठ के पी.एल शर्मा ज़िला अस्पताल में मंगलवार को केसरिया और बृहस्पतिवार को पीली चादरें ही बिछाई जाती हैं.

इस अस्पताल के आला-अधिकारी एक सतरंगी स्कीम के तहत अलग-अलग दिन अलग-अलग चादरें बिछाते हैं. ये सात दिन और सात रंग हिन्दू मान्यताओं के अनुसार तय किए जाते हैं. इस स्कीम को 'ऑपरेशन इंद्रधनुष' का नाम दिया गया है.

Source: Scoop Whoop

स्वच्छ भारत अभियान के तहत ही अस्पतालों को सफ़ेद के अलावा VIBGYOR (इंद्रधनुषी) रंगों की चादरें बिछाने की हिदायत दी गयीं थी. ये बहुत ही अच्छा प्रस्ताव है, क्योंकि रंगों से खुशी महसूस होती है. मरीज़ों के स्वास्थय के लिए ये बहुत ही अच्छी राय है. इस हिदायत को एक कदम आगे ले जाते हुए अस्पताल के अधिकारियों ने धर्म के नाम पर स्वच्छता बनाए रखने की ठानी है. इस काम के लिए 12 लाख रुपए खर्च कर, 4900 चादरें खरीदीं गईं.

अस्पताल के Superintendent-in-Chief ने TOI को बताया,

'स्वच्छ भारत के अंतर्गत कायाकल्प स्कीम के तहत ही ऑपरेशन इंद्रधनुष शुरू किया गया है. VIBGYOR Pattern की जगह, पर मैंने हिन्दू देवी-देवताओं से जुड़े रंगों का इस्तेमाल करने की सोची है.'
Source: The South Asian News

सप्ताह के अलग-अलग दिन के हिसाब से चादरें भी तय कर दी गईं हैं-

  1. सोमवार- महादेव का वार है, इसलिए सफ़ेद रंग.
  2. मंगलवार- हनुमान जी का वार, केसरिया रंग.
  3. बुधवार- बुध भगवान को Impress करने के लिए, हरा रंग.
  4. बृहस्पतिवार- साईं बाबा का दिन. इस दिन पीले रंग की चादरें बिछाईं जाएंगी.
  5. शनिवार- शनिदेव का वार, उनको ख़ुश करना बहुत ज़रूरी है, इसलिए इस दिन नीला रंग.

Source: TOI