बीते बुधवार को दिल्ली पुलिस ने गार्गी कॉलेज में हुई छेड़छाड़ के आरोप में 10 लोगों को गिरफ़्तार किया. Times of India की रिपोर्ट के अनुसार गिरफ़्तार किए गए लोग दिल्ली यूनिवर्सिटी और नोएडा के प्राइवेट यूनिवर्सिटी के छात्र हैं.


गार्गी कॉलेज के सीसीटीवी फ़ुटेज के आधार पर ये गिरफ़्तारियां हुई हैं. एक क्लिप में ये युवा एक केटरर की कार को कॉलेज गेट की तरफ़ धकेलते दिख रहे हैं. कुछ छात्रों को कॉलेज की गेट कूदकर अंदर आते भी देखा गया.

Source: Jansatta

पुलिस के पास फ़िलहाल छेड़छाड़ के कोई सबूत नहीं हैं.

Times of India की रिपोर्ट के मुताबिक़, गिरफ़्तार किए गए छात्रों पर कई Violations के साथ ही Molestation के चार्जेज़ लगाए जाएंगे. पुलिस को इस बात के सुबूत मिले हैं कि कई आरोपी और युवा फ़ेस्ट के स्थान पर अपनी कार और स्कूटर से पहुंचे जिन्हें कॉलेज से कुछ दूरी पर खड़ा किया गया. पहले इन लोगों ने दीवार कूदने की कोशिश की. कुछ अंदर घुसे और कुछ ने ज़बरदस्ती कॉलेज का गेट अपनी कार से खोला.


India Today की रिपोर्ट के मुताबिक़, आरोपियों के ख़िलाफ़ धारा 452, 354, 509, 34 के आधार पर हौज़ ख़ास थाने में मामला दर्ज करवाया गया है.

Source: National Herald

अधिकारियों ने बताया कि गार्गी कॉलेज केस में 11 टीम्स काम कर रही हैं. ये टीम्स टेक्निकल डिटेल्स पर ध्यान देने के साथ ही आरोपियों की जानकारी के साथ एनसीआर के अलग-अलग साइट्स भी जा रही हैं.


कई लोगों से पूछ-ताछ जारी है और पुलिस ने कई आरोपियों की पहचान कर ली है.

बीते 6 फरवरी को गार्गी कॉलेज फ़ेस्ट, Reverie के दौरान पुरुषों की भीड़ अराजक हो गई, कॉलेज के गेट को तोड़कर घुसी और छात्राओं से छेड़छाड़ की. कई छात्राओं ने कई बार छेड़छाड़ की और ग्रोपिंग की आपबीती सुनाई.

कॉलेज प्रशासन का कहना है कि उन्होंने 30-40 सिक्योरिटी गार्ड्स रखे थे पर वो भीड़ को काबू करने में नाक़ामयाब रहे.