लेटेस्ट गैजेट ख़रीदना बच्चों का ही नहीं बड़ों का सपना होता है, नए फ़ीचर्स को सबसे पहले यूज़ करना और दोस्तों के बीच 'कूल' बनने की सबकी चाहत होती है, ख़ासकर छोटे बच्चों में तो ये चीज़ें होती ही होती हैं, फ़ोर्ट कोच्ची के डेल्टा स्टडी स्कूल में पढ़ने वाला मोहम्मद अली भी ऐसा ही था, PlayStation खरीदने का सपना अली लगभग 3 साल देख रहा था और उसके लिए पैसे भी जमा कर रहा था लेकिन अली ने अपने सपने को भूल कर उन पैसे से ग़रीब बच्चों की मदद की. 

Source: roadtovr

कक्षा 6 में पढ़ने वाले ये बच्चा अपने 11वें जन्मदिन PlayStation ख़रीदने वाला था मगर उसने अपने पिता से कहा कि वो इस पैसे से टेलीविज़न सेट और टैबलेट ख़रीद कर ‘Tablet Challenge’ में दान कर दें. ‘Tablet Challenge’ वहां के MP हिबी ईडेन के द्वारा चलाया जा रहा है, जिससे कोरोना के चलते ऑनलाइन क्लासेज ले रहे ग़रीब बच्चों को ये क्लासेज दी जा सकें. 

अली के पापा, अंसिफ अशरफ, जो फ़ोर्ट कोच्चि के एक व्यापारी हैं, ने बताया, "अली तीसरी कक्षा से ही PlayStation या Xbox ख़रीदने की ज़िद कर रहा है. हम अली को ये नहीं दिलाना चाहते थे क्योंकि बच्चे अक्सर वीडियोगेम्स के आदी हो जाते हैं, फिर बाद में हमने बच्चों का बैंक खाता खोल दिया और थोड़ा-थोड़ा पैसा जमा करते रहे. इस बार रमज़ान क्योंकि कोरोना के वक़्त पड़ा तो मैं एक ट्रस्ट के ज़रिये ज़रुरतमंद लोगों की मदद करने लगा और अली को बाहर के हालात के बारे में बताया. 

Source: uniquetimes

एक दिन मुझे फेसबुक के ज़रिये MP हिबी ईडेन के ‘Tablet Challenge’ के बारे में पता चला, मैंने अली को ये बात बताई तो उसने अपने PlayStation वाले पैसे से टेलीविजन और टैबलेट खरीदने को कहा." 

अली ने 9 जून को अपने जन्मदिन पर दो टीवी सेट और एक टैबलेट हिबी एडेन को दान में दिया. एक और टीवी सेट एनकेएम शरीफ को दिया जहां इसकी मदद से 10 बच्चे ऑनलाइन पढ़ सकेंगे. 

ये छोटे-छोटे प्रयास किसी की ज़िन्दगी पूरी तरह से बदल सकते हैं.