कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बीच करोड़ों प्रवासी मज़दूरों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. इस बीच कई लोग ऐसे भी हैं जो इंसानियत को ज़िंदा रखने का काम कर रहे हैं. ये लोग जहां तक हो सके इन प्रवासी मज़दूरों की हेल्प करने में लगे हुए हैं. नोएडा की एक 12 साल की बच्ची ने भी ऐसा ही किया है. इस बच्ची ने झारखंड के कुछ प्रवासी मज़दूरों को अपनी बचत के पैसों से फ़्लाइट की टिकट ख़रीद कर उन्हें घर पहुंचने में मदद की है.

इस बच्ची का नाम निहारिका द्विवेदी है जो नोएडा में रहती है. उसने 48,000 रुपये अपनी गुल्लक में जमा किये थे. इससे उन्होंने 3 मज़दूरों के लिए फ़्लाइट की टिकट ख़रीद दी. ये सभी झारखंड के रहने वाले हैं और इनमें से एक कैंसर का मरीज़ भी है. 

Source: theweek

निहारिका ने कहा- 'न्यूज़ में प्रवासी मज़दूरों को पैदल जाते हुए मैं देखती थी. उनके दर्द ने मुझे ये फ़ैसला लेने के लिए प्रेरित किया. समाज ने हमें बहुत दिया है और ये हमारी ज़िम्‍मेदारी है कि ऐसे संकट में हम इसे वापस करें.'

सोशल मीडिया पर लोग इस बच्ची की जमकर तारीफ़ कर रहे हैं:

इन मज़दूरों तक निहारिका अपनी मां की मदद से पहुंची हैं. उन्होंने ही इन ज़रूरतमंदों का पता लगा कर उनके लिए टिकट ख़रीदने में निहारिका की मदद की थी. 
News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.