122 घर, 322 दुकानें और 301 गाड़ियां जलकर ख़ाक कर दी गईं 2020 के दिल्ली दंगों में.


Hindustan Times की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले सप्ताह हुए दंगों में उत्तर-पूर्वी दिल्ली हिंसा में हुए नुक़सान की ये अन्तरिम रिपोर्ट है. ये रिपोर्ट उत्तर-पूर्वी दिल्ली के ज़िला प्रशासन द्वारा जारी की गई है.

बीते सोमवार को वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि ये रिपोर्ट 18 एसडीएमएस की टीम द्वारा, रविवार सुबह तक साझा की गई जानकारी के आधार पर बनाई गई है.

Source: Reuters India

Hindustan Times की रिपोर्ट के अनुसार, अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर इन टीम्स ने दंगों में हुए नुक़सान का ब्यौरा लिया.


वरिष्ठ अधिकारियों ने ये भी बताया कि ये संख्या और बढ़ सकती है क्योंकि अधिकारी अभी सर्वे कर रहे हैं. ये सर्वे बीते शनिवार को शुरू किया गया था.

डीएम, शशि कौशल ने जानकारी दी है कि प्रत्येक एसडीएम की टीम में रेवेन्यू विभाग के अधिकारी, सिविल वॉलंटीयर हैं और सर्वे करने में और दंगा प्रभावितों को राहत पहुंचाने में मदद कर रहे हैं.

Source: DNA India

Hindustan Times की रिपोर्ट के अनुसार, नुक़सान का अनुमान एसडीएम की टीम के सर्वे और मुआवज़ा क्लेम आवेदन (जिनकी वेरिफ़िकेशन हो चुकी है) के आधार पर लगाया गया है.


पिछले हफ़्ते दिल्ली फ़ायर सर्विस की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, लगभग 79 घर, 52 दुकानें, 5 गोडाउन, 4 मस्जिद, 3 फ़ैक्ट्री और 2 स्कूल को सोमवार और बृहस्पतवार के बीच अलग-अलग घटनाओं में जलाया गया था. इस रिपोर्ट के मुताबिक़. 500 से ज़्यादा गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया था.

Source: Hindustan Times

वरिष्ठ अधिकारियों ने ये भी कहा कि ये संख्या भी बढ़ सकती है.


दिल्ली दंगों में अब तक 47 लोगों के मारे जाने की और 350 लोगों के ज़ख़्मी होने की ख़बर है.