चीनी सेना से झड़प में शहीद हुए बिहार रेजिमेंट के 16 जवानों को गणतंत्र दिवस पर सम्मानित किया जाएगा. 

News18 की एक रिपोर्ट के मुताबिक़, कर्नल बी. संतोष बाबू 16 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग अफ़सर थे. कर्नल बाबू समेत 20 जवान गलवान घाटी में चीनी सेना से 15 जून को हुई झड़प में शहीद हो गए. दोनों देशों में दशकों में इस तरह की मिलिट्री कॉन्फ़्लिक्ट नहीं हुई थी. 15 जून को गलवान घाटी में हैंड टू हैंड कॉम्बैट में हमारे जवानों ने अपने प्राणों की आहुति दे दी. 

चीन ने अब तक अपने शहीद हुए सैनिकों की संख्या नहीं बताई है. हालांकि उसने ये स्वीकार किया कि उसके भी सैनिक मारे गए. रिपोर्ट्स की मानें तो चीन के 35 सैनिक मारे गए थे. 

Source: Times of India

Hindustan Times की रिपोर्ट के अनुसार, कर्नल बाबू समेत 20 शहीदों का नाम नेशनल वॉर मेमोरियल में लिखा गया है. सेना ने गलवान घाटी झड़प में शहीद हुए सैनिकों के सम्मान में लेह स्थित पोस्ट 120 में एक मेमोरियल बनाया है. 

Source: Hindustan Times

पीएलए के सैनिकों ने बीते अगस्त में भी पैंगॉन्ग झील के दक्षिण किनारे से भारतीय क्षेत्र में प्रवेश करने की कोशिश की थी लेकिन भारतीय सैनिकों ने उनकी कोशिशें विफ़ल कर दी.