जब से PUBG पॉपुलर हुआ है, तबसे आये दिन उससे जुड़े कई अजीबोग़रीब किस्से भी सुनने को मिल जाते हैं. ऐसे ही किस्सों में एक और क़िस्सा मध्य प्रदेश से भी जुड़ गया है. एमपी के नीमच ज़िले में बीती 28 मई को मोबाइल पर PUBG खेलते वक़्त कार्डियक अरेस्ट होने से एक 16 साल के 12वीं के स्टूडेंट फ़ुरक़ान की मौत हो गई.

Source: newindianexpress

Indian Express में छपी ख़बर के अनुसार, फ़ुरक़ान अपने परिवार के साथ मध्य प्रदेश के नीमच में एक शादी समारोह में गया था. जहां एक ओर सब शादी की तैयारियों में व्यस्त थे, तो वहीं फ़ुरक़ान 3 घंटे से मोबाइल पर PUBG खेल रहा था. तभी अचानक वो बेहोश हो गया, जिसके बाद घर वाले उसे स्थानीय अस्पताल लेकर गए और चिकित्सकों की तमाम कोशिशों के बाद भी वो बच नहीं सका.

Source: gearnuke

घटना के बाद फ़ुरक़ान का इलाज करने वाले कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. अशोक जैन ने बताया,

जब फ़ुरक़ान को अस्पताल लाया गया तो उसकी नब्ज़ नहीं चल रही थी. इसीलिए तमाम कोशिशों के बावजूद भी उसे नहीं बचाया जा सका. उन्होंने ये भी बताया कि, PUBG ऐसा गेम है जिसे खेलते वक़्त कई बार इंसान बहुत एक्साइटेड हो जाता है और इस कारण कार्डियक अरेस्ट की स्थिति होने की संभावना बढ़ जाती है. ऐसे में सरकार और अभिवावकों को अपने बच्चों पर सख़्त निगरानी रखने की ज़रूरत है.
Source: bgr

आपको बता दें, जनवरी 2019 में, गुजरात के State Primary Education Department ने एक परिपत्र जारी कर प्राइमरी स्कूलों से PUBG पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी. इसके अलावा, फ़रवरी 2019 में, मंदसौर सीट से भाजपा विधायक, यशपाल सिंह सिसोदिया ने भी एमपी राज्य विधानसभा में PUBG को बैन करने का मामला उठाया था.