उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (UPPCB) लखनऊ में वायु गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए 2 नए सतत परिवेश 'वायु गुणवत्ता निगरानी स्टेशन' लगाएगा. ये क़दम उस वक़्त उठाया गया है, जब देश के विभिन्न शहरों में वायु प्रदूषण तेज़ी से बढ़ रहा है.

Source: urbanupdate

दरअसल, UPPCB राज्य के 8 शहरों में 18 नए मॉनिटरिंग स्टेशन लगा रहा है. इनमें से 5 'वायु गुणवत्ता निगरानी स्टेशन' आगरा, 1 मथुरा और फिरोजाबाद, 2 लखनऊ और कानपुर, 3 वाराणसी और प्रयागराज में लगाए जाएंगे. 1 स्टेशन गोरखपुर में भी बनेगा.

UPPCB के क्षेत्रीय अधिकारी (प्रयागराज) प्रदीप कुमार विश्वकर्मा के अनुसार, राज्य में वर्तमान में 13 शहरों में 25 निरंतर परिवेशी वायु गुणवत्ता निगरानी स्टेशन हैं, जिनमें गाज़ियाबाद, लखनऊ और नोएडा में 4, मेरठ में 3, ग्रेटर नोएडा में 2 हैं. इसके अलावा आगरा, बागपत, बुलंदशहर, हापुड़, कानपुर, मुरादाबाद, मुज़फ्फरनगर और वाराणसी में भी 1 मॉनिटरिंग स्टेशन हैं.

Source: icj24

वहीं, ये 18 नए वायु गुणवत्ता निगरानी स्टेशन UPPCB प्राधिकरण द्वारा प्रदान की गई भूमि पर स्थापित किए जाएंगे. उनमें से 5 को केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा और 10 राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यक्रम (NCAP) द्वारा फंड दिया जाएगा. 

UPPCB ने मॉनिटरिंग स्टेशन्स के लिए पहले ही अंतर्राष्ट्रीय बोलियों को आमंत्रित कर लिया है. ये स्टेशन 24x7 वायु प्रदूषण का विश्वसनीय डेटा ऑनलाइन लखनऊ स्थित UPPCB के हेडक्वार्टर भेजेंगे. 

Source: newsd

बता दें, इन स्टेशनों के प्रबंधन की ज़िम्मेदारी बोली लगाने वाले को 5 साल की अवधि के लिए दी जाएगी. वायु गुणवत्ता रीडिंग प्रदर्शित करने के लिए स्टेशन के पास एक डेलाइट और नाइट-विज़न डेटा डिस्प्ले सिस्टम भी स्थापित किया जाएगा.